ताज़ा खबर
 

महाराष्ट्रः मां-बाप को किया नजरअंदाज, तो यहां जिला परिषद के 7 कर्मियों की कटी 30% तनख्वाह!

सात कर्मियों के वेतन में तीस फीसदी की कटौती करके उनके माता पिता के खातों में भेज दिया गया है।

Author Edited By रुंजय कुमार लातुर | February 13, 2021 8:40 PM
latur , maharashtra , salary cutसांकेतिक तस्वीर (फोटो क्रेडिट – freepik)

महाराष्ट्र की लातुर जिला परिषद ने अपने वृद्ध माता-पिता की देखभाल नहीं करने को लेकर सात कर्मियों के वेतन में 30 फीसदी कटौती करना शुरू कर दिया है।
लातुर जिला परिषद के अध्यक्ष राहुल बोंद्रे ने शनिवार को यह जानकारी मीडिया के साथ साझा की।

जिला परिषद लातुर के अध्यक्ष राहुल बोंद्रे ने बताया कि 12 कर्मियों के खिलाफ अपने माता-पिता की उपेक्षा करने की शिकायत मिली थी जिनमें से छह कर्मी अध्यापक हैं। इनमें से सात कर्मियों के वेतन में तीस फीसदी की कटौती करके उनके माता पिता के खातों में भेज दिया गया है। राहुल बोंद्रे ने जानकारी देते हुए कहा कि कटौती की गयी राशि इन कर्मियों के माता-पिता के बैंक खातों में स्थानांतरित कर दी गयी है।


आपको बता दूँ कि पिछले साल नवंबर में लातुर जिला परिषद की महासभा ने अपने माता-पिता की देखभाल नहीं करने वाले कर्मियों के वेतन में 30 फीसदी कटौती करने का एक प्रस्ताव पारित किया था।लातुर जिला परिषद् के अध्यक्ष बोंद्रे के अनुसार दोषी कर्मियों के मासिक वेतन से कटौती दिसंबर, 2020 से शुरू हो गयी थी।

 

Next Stories
1 कब चालू होंगी सभी यात्री गाड़ियां? Indian Railways ने दिया ये जवाब
2 जाट कॉलेज फायरिंगः शिकंजे में आया 5 की हत्या का आरोपी सुखवेंद्र सिंह, दिल्ली से अरेस्ट
3 ट्रैक्टर परेड हिंसाः फर्जी मामलों में फंसाए जा रहे किसान, 16 अभी भी लापता- SKM का दावा
ये पढ़ा क्या?
X