ताज़ा खबर
 

आतंकी गत‍िव‍िध‍ियों के आरोपी जाक‍िर नाइक का बयान- तुम मुझे फांसी दोगे तो मैं शहीद कहलाऊंगा

"मुझे अपने देश भारत का संविधान पसंद है जो हर नागरिक को धर्म का प्रचार करने का अभ्यास करता है। मैंने देश के एक भी कानून को नहीं तोड़ा है, लेकिन क्योंकि मैं शांति फैल रहा था।"

विवादित धर्मगुरु जाकिर नाईक। (File Photo)

आतंकी गतिविधियों के आरोपी जाक‍िर नाइक ने एक बयान में कहा कि, “यदि आप मुझे जेल में डाल देते हैं तो मैं अल्लाह के संदेश को फैलाउंगा। यदि आप मेरा देश निकाला करते हैं, तो मैं अल्लाह की सृष्टि की भव्यता पर विचार करूंगा। यदि आप मुझे फांसी दे देते हैं तो मैं शहीद कहलाऊंगा।” इन शब्दों के साथ, विवादास्पद प्रचारक जाकिर नाइक ने भारतीय अधिकारियों के खिलाफ मोर्चा खोला। जाकिर ने दावा किया कि उन्हें शांति फैलाने के लिए टारगेट किया जा रहा था। यह बात जाकिर ने 1 दिसंबर को कही थी और इसे बुधवार (5 दिसंबर) को सोशल मीडिया पर अपलोड किया गया। आतंकवाद के मुद्दे पर अपने भाषण के दौरान, नाइक ने इस बारे में बात की कि अपने खिलाफ होने वाली घृणा को कैसे संभालता है।

जाकिर नाइक ने कहा कि, “मुझे अपने देश भारत का संविधान पसंद है जो हर नागरिक को धर्म का प्रचार करने का अभ्यास करता है। मैंने देश के एक भी कानून को नहीं तोड़ा है, लेकिन क्योंकि मैं शांति फैल रहा था, मैं मानवता का समाधान दे रहा था, तो जो लोग शांति पसंद नहीं करते वे मुझे पसंद नहीं करते हैं।” मैने जो किया वह इस्लाम के दुश्मन देशों, फिर चाहे वह पश्चिमी देश हों या जहां मैं पैदा हुआ हूं वह भारत हो, उन्हें यह पसंद नहीं आया। यही कारण है कि मुझे सताया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि उनके सभी विरोधियों ने उसे “तोड़ने” की कोशिश की, इससे मेरा संकल्प और दृढ हो गया। नाइक ने दावा किया कि उनके चैनल पीस टीवी के 200 मिलियन दर्शक थे, जिनमें से सैकड़ों गैर-मुस्लिम थे जो इस्लाम स्वीकार कर रहे थे। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) द्वारा आतंक और मनी लॉन्डरिंग के चार्ज के तहत नाइक की जांच की जा रही है। नाइक के कथित घृणित भाषण जारी करने की भी जांच चल रही है, जिसने 2016 में बांग्लादेश की राजधानी ढाका में एक लोकप्रिय कैफे पर घातक आतंकवादी हमले के लिए प्रेरित किया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App