ताज़ा खबर
 

केजरीवाल का नीतीश-लालू से हाथ मिलाना ‘भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन की आत्मा बेचने’ जैसा

योगेन्द्र यादव ने अरविंद केजरीवाल के बिहार विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और राजद नेता लालू प्रसाद यादव के साथ जुड़ने पर उनकी (केजरीवाल) आलोचना..

Author August 25, 2015 11:09 AM
आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता और स्वराज आंदोलन के मुखिया योगेन्द्र यादव (पीटीआई फाइल फोटो)

आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता और स्वराज आंदोलन के मुखिया योगेन्द्र यादव ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बिहार विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और राजद नेता लालू प्रसाद यादव के साथ जुड़ने पर उनकी (केजरीवाल) आलोचना करते हुए इसे ‘भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन की आत्मा बेचने’ जैसा करार दिया।

यादव ने सोमवार को कहा कि आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने बिहार विधानसभा चुनाव से पहले नीतीश-लालू गठबंधन से हाथ मिलाया है जो ‘भ्रष्ट्राचार विरोधी आंदोलन की आत्मा बेचने’ जैसा है।

आप के पूर्व नेता नर्मदा बचाओ आंदोलन की नेता मेधा पाटकर के नेतृत्व में सरदार सरोवर परियोजना से प्रभावित लोगों के भूमि, आवास और आजीविका सम्मेलन में शामिल होने आये थे।

यादव ने व्यापमं घोटाले पर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह से नैतिकता के तकाजे पर इस्तीफे की मांग की। उन्होंने साफ किया जो तथ्य मिले हैं उसकी बिना पर चौहान के खिलाफ आपराधिक प्रकरण भले ही दर्ज नहीं हुआ, लेकिन नीचे से शीर्ष तक को इसकी जानकारी न हो ऐसा मानना नादानी होगी। इसलिए शिवराज को नैतिकता के आधार पर इस्तीफा देना चाहिए।

स्वराज आंदोलन के मुखिया ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार की आलोचना करते हुए इसे कॉरपोरेट सरकार बताया।
उन्होंने मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि सरदार सरोवर परियोजना के डूब प्रभावितों के हितों को अनदेखा किया जा रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App