रामदेव की सलाह: मेरी तरह शादी न करने वाले का हो विशेष सम्मान, दो से ज्यादा बच्चों वालों का छिने वोटिंग का हक

साथ ही रामदेव ने बच्चों को लेकर वेदों का हवाला देते हुए कहा, जब जनसंख्या कम थी तब कोई दिक्कत नहीं थी। भारत की परम्परा और वेदों में 10 बच्चे पैदा करने की बात कही गई है।

हरिद्वार में आयोजित ज्ञान कुंभ में रामदेव ने की शिरकत। (फोटो सोर्स : ANI)

अपने बयानों और सरकार पर तल्ख टिप्पणियों के चलते सुर्खियों में रहने वाले योग गुरु बाबा रामदेव ने कुंवारों और सीमित परिवार को लेकर विशेष मांग की है। शादी न करने का प्रण लेने वाले राम देव ने कहा कि उनकी तरह जिंदगी भर कुंवारे रहने वालों को खास सम्मान मिलना चाहिए। साथ ही कहा, जो विवाह करते हैं वह दो से ज्यादा बच्चे न पैदा करें। उन्होंने कहा कि अगर जो भी दो से ज्यादा बच्चे पैदा करता है उसका वोटिंग का अधिकार छिन जाना चाहिए। हरिद्वार में आयोजित ज्ञान कुंभ में शिरकत करने पहुंचे बाबा रामदेव ने यह बयान दिया।

उन्होंने कहा कि उनकी तरह जिन्होंने शादी नहीं की है, उनको विशेष सम्मान मिलना चाहिए। इसके साथ ही रामदेव ने ज्यादा बच्चे पैदा करने वालों पर दिया है। उन्होंने कहा कि जो भी शादी करता है वह दो ही संतानों को जन्म दे। जो दो से ज्यादा बच्चे पैदा करता है तो उससे मतदान करने का अधिकार छीन लेना चाहिए। तो उन्हें वोट देने का अधिकार नहीं होना चाहिए। जो फिर भी 10 बच्चे पैदा करे, वह उनमें से एक बच्चा हमें भी दे दे।

योग गुरु ने कहा, यह अब राष्ट्रीय और राजनीतिक विषय हो गया है। उन्होंने बच्चों को लेकर वेदों का हवाला देते हुए कहा, जब जनसंख्या कम थी तब कोई दिक्कत नहीं थी। भारत की परम्परा और वेदों में 10 बच्चे पैदा करने की बात कही गई है। अगर आज के दौर में जिनका सामर्थ्य हो और आवश्यकता हो वह बच्चे पैदा करें। उन्होंने मजाकिया लहजे में कहा कि, जो भी ज्यादा बच्चे पैदा करते हैं, उनमें से मुझे भी दें दें।

आपको बता दें कि, बाबा रामदेव ने राम मंदिर को लेकर शनिवार को बड़ा बयान दिया था। रामदेव ने कहा था कि जल्दी ही अयोध्या में राम मंदिर बनना चाहिए। मंदिर लोगों की आस्था का विषय है। उन्होंने कहा कि यदि सुप्रीम कोर्ट राम मंदिर पर फैसला सुनाने में देरी कर रहा है तो संसद में इसका बिल लाया जाना चाहिए।

 

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट