ताज़ा खबर
 

Yes Bank: येस बैंक ग्राहकों के लिए खुशखबरी, पाबंदी हटने के बाद सभी बैंकिंग सेवाएं फिर से बहाल

बैंक ने लिखा है, ‘‘आपको बेहतर सेवा देने के लिये हमारी शाखाएं 19 मार्च 21 मार्च 2020 तक सुबह 8.30 बजे खुलेंगी। हमने अपने वरिष्ठ ग्राहकों के लिये बैंक में कामकाज का समय बढ़ा दिया है।

बैंक बृहस्पतिवार से तीन दिन के लिये बैंक में कार्य का समय भी बढ़ाएगा।

येस बैंक के ग्राहकों  के लिए खुशखबरी है। दरअसल,  13 दिन से जारी मुश्किलें अब समाप्त हो गयी हैं। पुनर्गठन की प्रक्रिया से गुजर रहे निजी क्षेत्र के इस बैंक ने बुधवार को कहा कि उस पर विनियामक आरबीआई की तरफ से लगी पाबंदियां हटा दी गयी हैं और सभी सेवाएं ग्राहकों के लिये फिर शुरू कर दी गयी हैं।

बैंक बृहस्पतिवार से तीन दिन के लिये बैंक में कार्य का समय भी बढ़ाएगा। हालांकि 13 दिन की रोक हटने के तुरंत बाद कुछ ग्राहकों ने सोशल मीडिया पर शिकायत की कि इंटरनेट और मोबाइल बैंंिकग समेत कुछ सेवाएं काम नहीं कर रही। येस बैंक ने ट्विटर पर लिखा है, ‘‘हमारी बैंक सेवाएं फिर से परिचालन में आ गयी हैं। आप हमारी सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं। सहयोग और धैर्य के लिये धन्यवाद।’’ कुछ तबकों में यह भी चिंता है कि येस बैंक से बड़ी मात्रा में जमा राशि कर निकासी हो सकती है।

बैंक ने लिखा है, ‘‘आपको बेहतर सेवा देने के लिये हमारी शाखाएं 19 मार्च 21 मार्च 2020 तक सुबह 8.30 बजे खुलेंगी। हमने अपने वरिष्ठ ग्राहकों के लिये बैंक में कामकाज का समय बढ़ा दिया है। उनके लिये 19 मार्च से 27 मार्च तक बैंक सेवाएं शाम 4.30 से 5.30 तक उपलब्ध होंगी।’’ उल्लेखनीय है कि रिजर्व बैंक ने पांच मार्च को बैंक पर पाबंदी लगा दी थी। इसमें ग्राहकों को तीन अप्रैल तक अपने खाते से 50,000 रुपये तक निकालने की सीमा शामिल थी। साथ ही आरबीआई ने बैंक के निदेशक मंडल को हटा दिया था।

येस बैंक पुनर्गठन के तहत भारतीय स्टेट बैंक और सात वित्तीय संस्थानों ने करीब 10,000 करोड़ रुपये लगाया है। इसमें निजी क्षेत्र के संस्थान भी शामिल हैं। बैंक का जमा आधार पांच मार्च 2020 को 72,000 करोड़ रुपये घटकर 1.37 लाख करोड़ रुपये रह गया था। यह 31 दिसंबर 2019 को 2.09 लाख करोड़ रुपये था।

येस बैंक के नामित मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) प्रशांत कुमार ने मंगलवार को कहा था कि निजी क्षेत्र के बैंक ने ग्राहकों के लये कोष की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिये पर्याप्त कदम उठाये हैं।उन्होंने कहा था, ‘‘हमारे सभी एटीएम नकदी से भरे हैं। हमारी सभी शाखाओं में नकदी की पर्याप्त आपूर्ति है। इसीलिए येस बैंक की तरफ से नकदी के मोर्चे पर कोई समस्या नहीं है।’’ रोक हटने के बाद कुमार अब येस बैंक के सीईओ हैं।

हालांकि रोक हटने के बाद कुछ ग्राहकों ने सेवाएं सही तरीके से शुरू नहीं होने को लेकर शिकायत की। कुछ ट्वीट का जवाब देते हुए बैंक ने इस असुविधा के लिये माफी मांगी और कहा कि बीच-बीच में उठने वाली कुछ समस्याएं हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 फ्लाइट अटैंडेंट ने पैसेंजर को मारा थप्पड़, यात्री ने भी दिया जवाब, वायरल हो रहा Video
2 मुस्लिम पैनलिस्ट बोले- सरकार को शाहीन बाग में मास्क बांटना चाहिए, एंकर का तंज- सैलरी ना बांध दें वहां बैठने वालों की?
3 70 साल का कलंक मिटाया, अब राजधर्म निभा रहे पीएम मोदी, जम्मू-कश्मीर पर लोकसभा में बोले केंद्रीय मंत्री