ताज़ा खबर
 

याकूब की सजा बरकरार, जेल में ही दफनाया जाएगा शव

मुंबई में ब्लास्ट करने वाले आरोपी याकूब मेमन की फांसी की सजा से बचाने के लिए देश के राजनीतिज्ञों ने लाख कोशिश की लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने हर तरह की दया याचिका खारिज कर सजा को बरकरार रखा

Author July 29, 2015 6:35 PM
बरकरारा है याकूब मेनन की सजा

मुंबई में ब्लास्ट करने वाले आरोपी याकूब मेमन की फांसी की सजा से बचाने के लिए देश के राजनीतिज्ञों ने लाख कोशिश की लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने हर तरह की दया याचिका खारिज कर सजा को बरकरार रखा। मुंबई में सिलसिलेवार बम धमाकों के दोषी याकूब मेमन को अब उसके जन्मदिन पर यानी कि 30 जुलाई को ही फांसी होगी।

नागपुर सेंट्रल जेल सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार याकूब मेमन को सुबह 5 से 5:30 बजे फांसी के तख्ते पर लटाकाया जाएगा। सुनने में यह भी आया है कि फांसी के बाद याकूब के शरीर को उसके परिवार को सौंपने की बजाए जेल में कहीं दफनाया जाएगा।
बुधवार को चली सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने याकूब के डेथ वारेंट जारी कर दिया। जैसे ही सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया याकूब के बड़े भाई सुलेमान और कजिन उलमान जेल में उससे मिलने गए।

गौरतलब है कि सुबह मीडिया से रूबरू हुए सुलेमान ने बात करते हुए कहा था कि उन्हें न्याय व्यवस्था पर भरोसा है। अल्लाह सब ठीक करेंगे। लेकिन आखिर खुदा के घर देर हैं अंधेर नहीं। लिहाजा जो जैसा करेगा वैसा ही भरेगा। गौरतलब है कि याकूब की दया याचिका आखिर कैसे स्वीकृत की जा सकती थी, जब उसने ही ब्लास्ट करते वक्त किसी के बारे में नहीं सोचा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App