ताज़ा खबर
 

ओडिशा सीएम की लेखिका बहन ने पद्मश्री लेने से किया इनकार, कहा- टाइमिंग सही नहीं

गीता मेहता को साहित्य और शिक्षा के क्षेत्र में उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए पद्म श्री के लिए चुना गया था। पद्म श्री देश का चौथा सबसे बड़े नागरिक सम्मान है।

लेखिका गीता मेहता (फोटो सोर्स : Twitter)

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक की बहन और मशहूर लेखिका गीता मेहता पद्म श्री पुरस्कार लेने से इनकार कर दिया। गीता मेहता ने ट्वीट के जरिए यह सम्मान न लेने की जानकारी दी। उन्होंने लिखा है कि, मैं यह पुरस्कार नहीं ले सकती क्योंकि इन्हें देने की टाइमिंग सही नहीं है। गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर केंद्र सरकार ने उनके नाम का ऐलान किया था।

एक प्रेस स्टेटमेंट जारी करते हुए गीता मेहता ने कहा, भारत सरकार ने मुझे पद्म श्री जैसे सम्मान के लिए चुना इसके लिए मैं बहुत गौरवान्वित महसूस कर रही हूं। पर मुझे अफसोस है कि मैं यह सम्मान नहीं ले सकती। भारत में लोकसभा चुनाव होने वाले हैं और इस सम्मान के लिए जो टाइमिंग चुनी गई है, उससे गलत संदेश जाएगा। जो मुझे और सरकार को शर्मिंदा कर सकता है। इसका मुझे हमेशा अफसोस रहेगा।’

गीता ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक की बड़ी बहन हैं और ओडिशा के पूर्व मुख्यमंत्री बीजू पटनायक की बेटी हैं। गीता को साहित्य और शिक्षा के क्षेत्र में उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए पद्म श्री के लिए चुना गया था। पद्म श्री देश का चौथा सबसे बड़े नागरिक सम्मान है।  उन्होंने पिछले 40 बरसों के अपने साहित्यिक जीवन में कई उल्लेखनीय किताबें लिखी हैं। गृह मंत्रालय ने गीता मेहता को ‘फॉरनर’ कैटिगरी में अवॉर्ड दिया है। बताया जा रहा है कि वह अभी न्यूयॉर्क में हैं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App