जब अमेरिका ने अफगानिस्तान से जाने की नीति बनाई तो हम नमस्ते ट्रम्प कर रहे थे अब नमस्ते तालिबान करने की दिशा में, बोले कांग्रेस प्रवक्ता तो सुधांशु त्रिवेदी ने दिया जवाब

कांग्रेस प्रवक्ता आलोक शर्मा ने टीवी डिबेट में कहा कि आज चीन, रूस और पाकिस्तान ने मिलकर वहां सत्ता परिवर्तन किया और अफगानिस्तान में भारत का लगा 35000 करोड़ रुपया पानी में चला गया।

अफगानिस्तान से अमेरिकी सेना के जाने के बाद काबुल एयरपोर्ट के बाहर खड़े तालिबानी लड़ाके। (फोटो – एपी)

अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की वापसी शुरू होते ही तालिबान ने वहां के अधिकांश इलाकों पर कब्ज़ा कर लिया और अब तालिबान नई सरकार बनाने के लिए भी तैयार है। वहीं पिछले दिनों भारत की अध्यक्षता में यूनाइटेड नेशन्स सिक्योरिटी काउंसिल ने तालिबान को अफगानिस्तान में कामकाज संभालने की सशर्त मान्यता भी दे दी। तालिबान से जुड़े एक मुद्दे पर टीवी डिबेट के दौरान जब एंकर ने भारत की अफगान नीति को लेकर सवाल पूछा तो कांग्रेस प्रवक्ता आलोक शर्मा ने कहा कि जब अमेरिका अफगानिस्तान से निकल रहा था तब हम नमस्ते ट्रम्प कर रहे थे और अब हम नमस्ते तालिबान करने की दिशा में हैं। तो भाजपा प्रवक्ता ने भी जवाब देते हुए कहा कि ये कांग्रेस का शरारतपूर्ण बयान है।  

दरअसल आजतक न्यूज चैनल पर आयोजित टीवी डिबेट में एंकर चित्रा त्रिपाठी ने कांग्रेस प्रवक्ता आलोक शर्मा से भारत सरकार की अफगान नीति को लेकर सवाल पूछा। इसके जवाब में आलोक शर्मा ने कहा कि यह सरकार की एक दिन की नाकामी नहीं है। यह प्रकरण पिछले तीन साल से चल रहा था और सरकार के पास इसका कोई रोडमैप नहीं था। जब अमेरिका ने अफगानिस्तान से वापस जाने की नीति बनाई तो हम नमस्ते ट्रम्प कर रहे थे और अब सरकार नमस्ते तालिबान करने की दिशा में आगे बढ़ रही है।

कांग्रेस प्रवक्ता ने टीवी डिबेट में यह भी कहा कि आज चीन, रूस और पाकिस्तान ने मिलकर वहां सत्ता परिवर्तन किया और अफगानिस्तान में भारत का लगा 35000 करोड़ रुपया पानी में चला गया। हमारे जो जियो स्ट्रेटेजिक हित थे वो पूरे अहित में बदलते चले गए लेकिन प्रधानमंत्री या किसी की तरफ से कोई आधिकारिक बयान नहीं आया। विदेश नीति के मामले में सरकार पूरी फेल रही है।

कांग्रेस प्रवक्ता के इन बयानों पर जब भाजपा प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी से प्रतिक्रिया ली गई तो उन्होंने कहा कि आलोक जी ने जो कुछ अभी बोला अगर वो नई नवेली पार्टी बोलती तो बचकाना माना जा सकता था पर कांग्रेस बोलती है तो शरारतपूर्ण माना जाएगा। आगे सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि जब 2001 में 9/11 हुआ तो अमेरिका ने तालिबान पर आक्रमण किया और 2003 तक उसको वर्चुअली समाप्त कर दिया।

आगे भाजपा प्रवक्ता ने कांग्रेस प्रवक्ता आलोक शर्मा से सवाल पूछने वाले लहजे में कहा कि जब 2004 में देश में सत्ता बदली तो आपकी सरकार ने अफगानिस्तान में निवेश रोके थे। एक के बाद एक प्रोजेक्ट शुरू हुए. किसकी सरकार के कार्यकाल में वहां संसद भवन का निर्माण कार्य पूरा हुआ था। 10 सालों में वहां जबरदस्त काम हुआ और ये भारत सरकार की स्थापित नीति थी। चाहे जिसकी भी सरकार रही हो हमारा मानना था कि अफगानिस्तान में चुनी हुई सरकारों का समर्थन करना है और वहां के विकास कार्यों में हमें योगदान देना है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट
X