ताज़ा खबर
 

राकेश टिकैत के बयान पर बोली भाजपा सांसद, अड़ियल रवैया, सुप्रिया श्रीनेत ने कहा- खुश हूं आतंकी नहीं कह दिया

सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि अपराजिता “अड़ियल रवैया” कह रही थीं लेकिन राजहठ तो सरकार दिखा रही है, न्योता तो सरकार ही भेजेगी।

farmer protest, rakesh tikait, farmlawsकिसान नेता राकेश टिकैत (फोटो – पीटीआई)

किसान नेता राकेश टिकैत पिछले काफी दिनों से यह कह रहे हैं कि अब किसान अपनी फसल को संसद में जाकर बेचेंगे और दिल्ली में बैरिकेडिंग तोड़ कर जाएंगे। राकेश टिकैत के इस बयान पर टीवी डिबेट में भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि यह उनका अड़ियल रवैया है। भाजपा सांसद के इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि खुश हूं कि उन्होंने आतंकी नहीं कहा।

आजतक न्यूज चैनल पर आयोजित कार्यक्रम में एंकर रोहित सरदाना ने भाजपा प्रवक्ता से सवाल पूछते हुए कहा कि राकेश टिकैत कह रहे हैं कि अब किसान अपनी फसल संसद में जाकर ही बेचेंगे तो क्या आप अडानी का काउंटर संसद पर खोल रहे हैं। इसके जवाब में भाजपा प्रवक्ता व सांसद अपराजिता सारंग ने कहा कि ये उनकी नासमझी है।  साथ ही अपराजिता सारंग ने कहा कि भारत बंद को लेकर कई व्यापारी संगठनों ने किसान संगठनों और उनके नेताओं से कहा कि आप अपना अड़ियल रवैया छोड़िए और सरकार के साथ बातचीत करिए। आगे अपराजिता ने कहा कि कांग्रेस और विपक्षी पार्टियों के पास इन कानूनों को गलत बताने के लिए कोई तथ्य नहीं है। इसलिए बस अपने राजनीतिक फायदे के लिए किसान आंदोलन को बढ़ावा दे रहे हैं।

अपराजिता सारंग के आरोपों पर पलटवार करते हुए कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि भाजपा के पास कोई तर्क नहीं है, बस कांग्रेस को ब्लेम कर दो। आगे सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि अपराजिता “अड़ियल रवैया” कह रही थीं लेकिन राजहठ तो सरकार दिखा रही है, न्योता तो सरकार ही भेजेगी। किसान खुद से प्रधानमंत्री आवास या नरेंद्र तोमर के ऑफिस में तो नहीं चले जाएंगे। प्रधानमंत्री ने कहा था कि वो किसानों से एक फ़ोन कॉल दूर हैं लेकिन अगले ही दिन हरियाणा के 18 जिलों में इंटरनेट काट दिया गया।

साथ ही सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि मैं एक बात से खुश हूं कि उन्होंने राकेश टिकैत को नासमझ कहा। कम से कम इन्होंने चीन-पाक एजेंट, खालिस्तानी, आतंकवादी तो नहीं कहा जो इनके मंत्री और नेता कह चुके हैं। इसके अलावा कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि विपक्ष आपका दुश्मन नहीं है, बल्कि आपने दुश्मनी किसानों से मोल ले ली है। अभी तक 300 से ज्यादा किसानों की शहादत हो चुकी है लेकिन आपके या आपके प्रधानमंत्री के मुंह से एक भी शब्द इन किसानों के लिए नहीं निकलता है।

बता दें कि दिल्ली की सीमाओं पर किसान आंदोलन को चार महीने पूरे हो चुके हैं। किसान संगठनों और केंद्र सरकार के बीच गतिरोध बना हुआ है। शुक्रवार को दिल्ली के सिंघु, गाजीपुर और टिकरी बॉर्डर पर जारी किसान आंदोलन के चार महीने पूरे होने पर सुबह छह बजे से लेकर शाम छह बजे तक भारत बंद का आयोजन किया गया था।

Next Stories
1 उज्ज्वला योजना? हमने तो नहीं सुनी, बंगाल के इस गांव में किसी ने नहीं किए प्रत्याशी के दर्शन, कल होगी वोटिंग
2 स्वेज नहर में फंसे भारी भरकम तोप को निकालने पहुंचा ‘छोटू’ क्रेन, AAP ने सरकार पर कर दिया तंज
3 गौरव आर्या ने पाकिस्तानी पैनलिस्ट को लताड़ा, कहा- प्लंबर है ये आदमी, पाकिस्तान को बना दिया गाली
ये पढ़ा क्या?
X