ताज़ा खबर
 

बोले AIMIM नेता- मुसलमान हूं, पूनावाला-चायवाला नहीं; पैनलिस्ट का पलटवार- ओवैसी के दफ्तर में बंटता हैं मुस्लिम सर्टिफिकेट?

टीवी डिबेट के दौरान आसिम वकार ने शहजाद पूनावाला को अपना नाम बदलने की भी सलाह दे डाली। आसिम वकार ने कहा कि पहले आप अपना नाम चेंज कीजिए, उसके बाद आपको जो भी कहना है कहिए।

टीवी डिबेट के दौरान जब एआईएमआईएम नेता आसिम वकार ने शहजाद पूनावाला से कहा कि आप जैसे लोगों मुसलमानों को गाली देते हैं तो उन्होंने भी पलटवार करते हुए कहा कि आपके पास मुसलमान होने का सर्टिफिकेट बांटने का अधिकार कैसे है? (फोटो: एएनआई/ ट्विटर हैंडल @aimim_national)

सोमवार को उत्तरप्रदेश ATS ने धर्मांतरण कराने के आरोप में दो लोगों को गिरफ्तार किया। दोनों लोगों पर महिलाओं और मूक-बघिर बच्चों के भी धर्मांतरण कराने का आरोप है। इसी मुद्दे पर आयोजित टीवी डिबेट के दौरान असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम के नेता आसिम वकार और पैनलिस्ट शहजाद पूनावाला आपस में भिड़ गए। आसिम वकार ने टीवी डिबेट के दौरान शहजाद पूनावाला पर हमला करते हुए कह दिया कि मैं एक मुसलमान हूं, कोई पूनावाला-चायवाला नहीं हूं। इसपर पूनावाला ने भी पलटवार करते हुए कहा कि क्या ओवैसी के दफ्तर में मुस्लिम होने का सर्टिफिकेट बंटता है।

टीवी चैनल न्यूज 18 पर एंकर अमिश देवगन के डिबेट शो में एआईएमआईएम के नेता आसिम वकार ने सामाजिक कार्यकर्ता शहजाद पूनावाला पर निशाना साधते हुए कहा “मैं अल्लाह का शुक्र अदा करता हूं कि मैं एक पक्का मुसलमान हूं, कोई पूनावाला-चायवाला नहीं हूं। आसिम वकार के इन बयानों पर शहजाद पूनावाला ने भी पलटवार किया और कहा कि किसने आपको सर्टिफिकेट बांटने की एजेंसी दे दी है। क्या मुसलमान होने का सर्टिफिकेट ओवैसी के दफ्तर में बंट रहा है।

टीवी डिबेट के दौरान आसिम वकार ने शहजाद पूनावाला को अपना नाम बदलने की भी सलाह दे डाली। आसिम वकार ने कहा कि पहले आप अपना नाम चेंज कीजिए, उसके बाद आपको जो भी कहना है कहिए। आगे आसिम वकार ने कहा कि बहुत से लोग मुसलमानों को गाली देते हैं। वसीम रिजवी जैसे लोग पहले से ही गाली देते हैं और अब शहजाद पूनावाला भी इसमें शामिल हो गए।

 

शहजाद पूनावाला ने भी आसिम वकार के इन आरोपों पर पलटवार किया। पूनावाला ने कहा कि जब आप हिंदू देवी देवताओं को गाली देते हैं तब ये मुसलमान होने का सर्टिफिकेट है क्या? आपके पास सर्टिफिकेट बांटने का अधिकार कैसे है? आगे शहजाद पूनावाला ने कहा कि आप ये बता दीजिए एआईएमआईएम संवैधानिक तरीकों से चुनाव लड़ती है या मुसलमान होने का सर्टिफिकेट बांटती है। अगर आप एक धार्मिक संस्था हैं तो चुनाव मत लड़िए।

बता दें कि उत्तरप्रदेश ATS ने मुफ्ती काजी जहांगीर कासमी और मोहम्मद उमर गौतम नाम के दो आरोपियों को धर्मांतरण कराने के आरोप में गिरफ्तार किया है। उत्तरप्रदेश पुलिस के द्वारा दी गई सूचना के अनुसार आरोपियों द्वारा पिछले एक साल में करीब 350 लोगों का धर्म बदलवाया गया। नोएडा के एक मूक बधिर स्कूल के 18 बच्चों का भी धर्मांतरण कराया गया। पुलिस के अनुसार कई बार लोगों को लालच देकर और कई बार डरा-धमकाकर भी लोगों का धर्म परिवर्तन कराया जाता था।

Next Stories
1 ॐ की शक्ति मानने को मुझे मत बोलो- मौलाना ने कहा, आचार्य ने फालतू बता लताड़ा- नीम-हकीम खतरा-ए-जान हैं
2 1000 लोगों को सामने लाएं- धर्म परिवर्तन केस पर बोले तस्लीम रहमानी, एंकर लगे पूछने- आपके पास कौन सी CBI, ATS है?
3 जो बंद गले के सूट पर जनेऊ दिखाए, ढोंगी तो वो…बोले बीजेपी प्रवक्ता, कांग्रेस नेत्री याद दिलाने लगीं 10 लाख का सूट
आज का राशिफल
X