ताज़ा खबर
 

गैंगरेप की घटना में इंसाफ न मिलने पर महिला ने मुख्यमंत्री पर फेंके अंडे, BJD कार्यकर्ताओं ने इतना पीटा कि हुई अस्पताल में भर्ती

ओडिशा में गैंगरेप पीड़िता के आत्महत्या कर लेने की घटना में कार्रवाई न होने के विरोध में महिला ने मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के मंच पर अंडे फेंके। इससे गुस्साए कार्यकर्ताओं ने महिला की जमकर पिटाई की। इस मामले को लेकर ओडिशा की राजनीति गरमा गई है।

Author नई दिल्ली | February 8, 2018 15:07 pm
प्रतीकात्मक फोटो

ओडिशा के बलसौर जिले में रैली के दौरान एक महिला ने मुख्यमंत्री नवीन पटनायक पर अंडे फेंके। इस पर बीजू जनता दल कार्यकर्ताओं ने पुलिस के सामने उसकी इतनी बेरहमी से पिटाई कर दी कि महिला की हालत खराब हो गई। उसका अस्पताल में इलाज चल रहा है। इस घटना के बाद सत्ताधारी दल बीजद पर भाजपा हमलावर हो गई। पार्टी नेताओं ने मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से राज्य भर की महिलाओं से बिना शर्त माफी मांगने को कहा। भाजपा ने कहा कि मुख्यमंत्री हर मंच से महिलाओं के सम्मान की मांग करते हैं, दूसरी तरफ उनकी ही मौजूदगी में और उनके ही इशारे पर कार्यकर्ता महिला की बेदर्दी से पिटाई करते हैं। महिला कुंडली गैंगरेप पीड़िता के सुसाइड के मामले में इंसाफ न मिलने पर विरोध जताने के लिए अंडे फेंके थे।

भाजपा के वरिष्ठ नेता विश्वभूषण हरिचंदन ने पत्रकारों से बातचीत में राज्य सरकार को आड़े हाथों लिया। कहा कि महिला की पिटाई करने वाले आरोपियों की अब तक गिरफ्तारी नहीं हुई। कुंडली में एक लड़की ने गैंगरेप की शिकार होने के बाद आत्महत्या कर ली थी। इस मामले के आरोपियों की गिरफ्तारी न होने पर राजश्री नामक महिला कार्यक्रम में विरोध जताने पहुंची थी। हरिचंदन ने कहा कि, ‘मुख्यमंत्री को अंडे लगे भी नहीं, मगर पार्टी कार्यकर्ताओं ने पुलिस के सामने महिला की पिटाई की। जब कार्यकर्ता महिला के साथ अभद्रता कर रहे थे तो मुख्यमंत्री तमाशा देखते रहे। उल्टे पुलिस ने मुख्यमंत्री पर अंडे फेंकने के लिए महिला पर हत्या का प्रयास का केस दर्ज किया है।’
हरिचंदन ने कहा कि मुख्यमंत्री हमेशा दावा करते हैं कि उनकी सरकार महिलां का सम्मान करती है, लेकिन अंडे की घटना ने उनकी सरकार की मानसिकता उजागर कर दी है। उन्हें राज्य की महिलाओं से बिना शर्त माफी मांगनी चाहिए। महिला का इलाज एससीबी मेडिकल कॉलेज में महिला का इलाज चल रहा है। उधर मुख्यमंत्री की मौजूदगी में महिला की पिटाई के मामले के तूल पकड़ने पर पुलिस ने महिला पर से हत्या के प्रयास का केस हटा दिया। बीजू जनता दल के प्रवक्ता समीर दास ने कहा कि इस मामले की जांच चल रही है। उन्होंने सफाई देते हुए कहा कि- ‘‘बीजद कार्यकर्ताओ ने महिला का उत्पीड़न नहीं किया। पुलिस मौके पर मौजूद थी और उसने महिला को बचाया। भाजपा राजनीतिक लाभ लेने के लिए इस मुद्दे को तूल दे रही है। अदालत फैसला करेगी कि किसने अपराध किया है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App