ताज़ा खबर
 

दिल्ली व आसपास की हवा हुई ‘बहुत खराब’; केजरीवाल बोले- बाहर के धुएं पर हमारा नियंत्रण नहीं

दिल्ली में लोधी रोड का एक्यूआइ 322 दिल्ली विश्वविद्यालय 337, एयरपोर्ट 359, आइआइटी के पास खतरनाक स्तर रहा। आइआइटी व मथुरा रोड दोनों जगहों पर एक्यूआइ 409 दर्ज किया गया जो कि खतरनाक दर्जे का माना जाता है।

Author Edited By Sanjay Dubey October 24, 2020 5:22 AM
दिल्ली में शुक्रवार को वायु प्रदूषण काफी बढ़ गया। इससे लोगों को दिक्कत हुई।

राजधानी दिल्ली सहित आसपास के इलाकों में शुक्रवार को हवा ‘खराब’ से बिगड़ कर ‘बहुत खराब’ दर्जे में पहुंच गई है, जबकि नोएडा व दिल्ली के दो स्थानों पर हवा खतरनाक रूप से जहरीली पाई गई। प्रदूषण निगरानी प्रणाली सफर के मुताबिक पंजाब व हरियाणा सहित आसपास के इलाकों में पराली जलाने के 1213 मामले दर्ज किए गए। जिससे वायु प्रदूषण में पराली के धुएं का फीसद बढ़कर 17 पहुंच गया।

दिल्ली में लोधी रोड का एक्यूआइ 322 दिल्ली विश्वविद्यालय 337, एयरपोर्ट 359, आइआइटी के पास खतरनाक स्तर रहा। आइआइटी व मथुरा रोड दोनों जगहों पर एक्यूआइ 409 दर्ज किया गया जो कि खतरनाक दर्जे का माना जाता है। नोएडा की हवा भी खतरनाक रूप से प्रदूषित पाई गई। अनुमान है कि 24, 25 अक्तूबर को हवा का स्तर और खराब होगा। जिससे यह प्रदूषण के खतरनाक स्तर पर पहुंच जाएगी।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में कुछ दिनों से प्रदूषण बढ़ गया है। उन्होंने कहा कि जनवरी-फरवरी से सितंबर तक प्रदूषण ठीक रहता है, लेकिन अक्तूबर-नवंबर और दिसंबर में प्रदूषण बढ़ जाता है। पड़ोसी राज्यों से पराली का धुआं आता है, उस वजह से प्रदूषण बढ़ जाता है।

शुक्रवार को मुख्यमंत्री एलएनजेपी अस्पताल शिलान्यास कार्यक्रम में पहुंचे थे। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हम सभी राज्य सरकारों और केंद्र के साथ मिलकर उसका भी इंतजाम करेंगे। लेकिन हमें इस समय कोशिश करनी है कि हम अपनी दिल्ली का धुआं कम से कम रखें। बाहर वाले धुआं पर हमारा अपना नियंत्रण नहीं है, लेकिन दिल्ली का धुआं हम सब मिलकर कम कर सकते हैं, इसके लिए दिल्ली सरकार की तरफ से कई सारे कदम उठाए जा रहे हैं।

अरविंज केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में सबसे ज्यादा धुआं वाहनों का होता है। दिल्ली सरकार द्वारा पूरे दिल्ली में अभी यह अभियान चल रहा है कि अगर रेड लाइट है और आप रुकते हो, तो अपनी गाड़ी को आप बंद कर लो। एक औसत देखा गया कि जब एक व्यक्ति अपने घर से निकलता है और शाम तक घर पहुंचता है, तो वह करीब 20 से 25 मिनट तक वह रेड लाइट पर गुजारता है और इस दौरान अगर उसकी गाड़ी चालू हालत में रहती है, तो उससे काफी प्रदूषण होता है। अगर हम उस समय अपनी गाड़ी बंद कर लें, तो प्रदूषण से भी निजात मिलेगी और तेल की भी बचत होगी।

दो नवंबर को 272 वार्ड में शुरू होगा अभियान : गोपाल राय
शुक्रवार को पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली सरकार ने दो नवंबर को निगम के सभी 272 वार्डों में ‘रेड लाइट आन, गाडी आफ’ अभियान शुरू करने का फैसला किया। गोपाल राय ने बाराखंभा रोड के ट्रैफिक सिग्नल पर दिल्ली के पार्षदों के साथ ‘रेड लाइट आन, गाड़ी आफ’ अभियान में भाग लिया। उन्होंने कहा कि 26 अक्तूबर को यह अभियान दिल्ली के सभी 70 विधानसभा क्षेत्रों में शुरू किया जा रहा है और प्रदूषण के स्तर को कम करने के लिए दिल्ली के 13 प्रदूषण केंद्रों पर लगातार निगरानी कर रहा है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पत्रकारों पर FIR से भड़के अर्णब गोस्वामी ने हाथ दिखाकर कहा – ‘सुधांशु त्रिवेदी समझाइए इनको’, और फिर…
2 ‘नोएडा तक चीन का कब्जा है’, राहुल गांधी के बयान पर एंकर ने कांग्रेस प्रवक्ता से पूछे सवाल; बोले- PM का पक्ष लेंगे तो आपके स्टूडियो तक पहुंच जाएंगे
3 पंजाब के CM अमरिंदर सिंह के बेटे को ED ने भेजा समन, FEMA एक्ट का उल्लंघन और अकूत संपत्ति जमा करने का आरोप
यह पढ़ा क्या?
X