ताज़ा खबर
 

तो अटक जाएगा टीके के निर्माण का काम? जानें- भारत को वैक्सीन के लिए क्यों चाहिए US से कच्चा माल

इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ फार्मास्यूटिकल मैन्युफैक्चरर्स एंड एसोसिएशंस के अनुसार, SII, भारत बायोटेक जैसी कंपनियों के सामने कच्चे माल के लिए किसी अन्य विकल्प को खोजना मुश्किल है।

Author Updated: April 20, 2021 9:54 AM
Serum Institute of India,Covid-19, vaccinesपुणे के सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में कोविशिल्ड को पैक करते कर्मचारी (AP/PTI Photo)

भारत के लिए वैक्सीन बनाने वाली कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन से कोविशिल्ड और कोवोवैक्स के उत्पादन को बढ़ाने के लिए आवश्यक कच्चे माल के निर्यात पर प्रतिबंध हटाने का आग्रह किया है। अदार पूनावाला ने ट्विटर पर लिखा कि मैं आपसे विनम्रता पूर्वक अपील करता हूं कि अमेरिका से दूसरे देशों में एक्सपोर्ट होने वाली वैक्सीन के रॉ मटेरियल पर लागू एम्बार्गो को हटा लिया जाए। जिससे वैक्सीन के उत्पादन को बढ़ाया जा सकेगा।

बताते चलें कि अमेरिका से कच्चा माल के रूप में मुख्य रूप से फिल्टर्स, बैग्स, कुछ मीडिया सॉल्यूशंस सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया प्राप्त करता रहा है। इन चीजों पर प्रतिबंध लगने के बाद वैक्सीन के उत्पादन में गिरावट दर्ज की गयी है। सीरम इंस्टीट्यू सहित विश्व के प्रमुख आपूर्तिकर्ताओं के उत्पादन पर अमेरिकी प्रतिबंधों की मार पड़ने की आशंका है। विशेषज्ञों के अनुसार प्रतिबंध न केवल सीमित संसाधनों के लिए लड़ाई का कारण बन सकता है, बल्कि कुछ उत्पादों की नियामक मंजूरी में भी देरी कर सकते हैं।

एम्बार्गो क्या है? 1950 में कोरियाई युद्ध के दौरान इस अधिनियम को अमेरिका में बनाया गया था। यह अधिनियम “महत्वपूर्ण” सामग्रियों और सामानों के उत्पादन और आपूर्ति में तेजी लाने के लिए और घरेलू उद्योग को प्रोत्साहित करने के लिए राष्ट्रपति को शक्तियां प्रदान करता है। इसके तहत कोविड -19 टीकों के उत्पादन में प्रयुक्त महत्वपूर्ण कच्चे माल के निर्यात को इस वर्ष की शुरुआत में अमेरिका के द्वारा रोक दिया गया था।

विकल्प खोजना मुश्किल है: इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ फार्मास्यूटिकल मैन्युफैक्चरर्स एंड एसोसिएशंस के अनुसार, SII, भारत बायोटेक जैसी कंपनियों के सामने कच्चे माल के लिए किसी अन्य विकल्प को खोजना मुश्किल है। ऐसे में अगर अमेरिका की तरफ से प्रतिबंध नहीं हटाया गया तो भारत में वैक्सीन उत्पादन पर असर पड़ेगा।

बताते चलें कि भारत में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। मंगलवार को सरकार की तरफ से जारी आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटे में 2 लाख 59,170 नए मामले सामने आए हैं। इस दौरान 1761 लोगों की मौत हुई है।

Next Stories
1 कोरोनाः ‘मोदी इस्तीफा दो’ की टि्वटर पर उठी मांग, PM को ‘नीरो’ बता चंद घंटों में कर दिए गए 2 लाख से अधिक ट्वीट्स
2 देश में कोरोना से एक दिन में रिकॉर्ड मौत, 24 घंटे में गयी 2,023 लोगों की जान
3 पश्चिम बंगाल चुनावः हाहाकार मचा तब जागी बीजेपी, अब पीएम की रैली में भी होंगे केवल 5 सौ लोग
ये पढ़ा क्या?
X