कांग्रेस में शामिल होंगे प्रशांत किशोर? सोनिया बन सकती हैं स्थायी अध्यक्ष

कांग्रेस सूत्रों के अनुसार राहुल गांधी को लोकसभा में विपक्ष का नेता बनाया जा सकता है। पार्टी के भीतर इस बात को लेकर अटकल है कि अधीर रंजन चौधरी की जगह राहुल गांधी को कमान दी जा सकती है।

Sonia Gandhi, Prashant Kishor, Rahul Gandhi
चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर के कांग्रेस में शामिल होने की संभावना व्यक्त की जा रही है (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर के कांग्रेस नेताओं से मुलाकात के बाद चर्चा है कि वो कांग्रेस पार्टी में शामिल हो सकते हैं। वहीं कांग्रेस सूत्रों की तरफ से इस बात के भी संकेत हैं कि सोनिया गांधी पार्टी की स्थायी अध्यक्ष बन सकती है। मंगलवार को राहुल गांधी और प्रशांत किशोर की मुलाकात हुई थी इस बैठक में प्रियंका गांधी भी मौजूद थी। मीडिया खबरों के अनुसार इस बैठक में ऑनलाइन माध्यम से सोनिया गांधी ने भी हिस्सा लिया था।

करीब डेढ़ घंटे तक चली मुलाकात के बारे में कांग्रेस की ओर से आधिकारिक रूप से कुछ नहीं कहा गया है। इस मुलाकात की अहमियत इस मायने में भी है कि राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रमुख शरद पवार राष्ट्रीय स्तर पर भाजपा विरोधी मोर्चा बनाने के प्रयास में हैं और इसी सिलसिले में उन्होंने कुछ सप्ताह पहले किशोर से मुलाकात की थी।

जानकारों का मानना है कि बैठक पंजाब या उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव को लेकर नहीं था। जैसा की अनुमान लगाया जा रहा है। यह बैठक ‘कहीं अधिक बड़ी’ थी। संकेत मिल रहे हैं कि 2024 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी की रणनीति को तैयार करने में प्रशांत किशोर महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं।

राहुल गांधी बन सकते हैं विपक्ष के नेता: कांग्रेस के सूत्रों के अनुसार राहुल गांधी को लोकसभा में विपक्ष का नेता बनाया जा सकता है। पार्टी के भीतर इस बात को लेकर अटकल है कि अधीर रंजन चौधरी की जगह राहुल गांधी को कमान दी जा सकती है। बुधवार की शाम सोनिया गांधी की तरफ से अहम बैठक बुलायी गयी है।

बताते चलें कि हाल के दिनों में राहुल गांधी लगातार सरकार पर हमलावर रहे हैं। कोरोना संकट के दौरान उन्होंने सरकार के कदमों की जमकर आलोचना की। बुधवार को उन्होंने एक खबर साझा करते हुए ट्वीट किया, ‘‘जुमले हैं, वैक्सीन नहीं!’’ कांग्रेस नेता ने जो खबर साझा की उसमें कहा गया है कि कई राज्यों में टीकों की कमी है, हालांकि केंद्र ने इससे इनकार किया है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट