ताज़ा खबर
 

‘चीन को लाल आंख कब दिखाओगे मोदी जी?’, वरिष्ठ पत्रकार ने पूछा तो लोगों ने ले लिया निशाने पर

वरिष्ठ पत्रकार ने लेख शेयर कर लिखा “मोदी जब सीएम थे तब मनमोहन सिंह से पूछा था अब देश पूछ रहा है, चीन को लाल आंख कब दिखाओगे मोदी जी?"

इस ट्वीट के बाद पत्रकार आशुतोष ट्विटर यूजर्स के निशाने पर आ गए हैं। फोटो सोर्स – PTI

लद्दाख के गलवान वैली में भारत और चीन सैनिकों के बीच सीमा पर झड़प हुई है। इस झड़प में 20 भारतीय सैनिकों की मौत हो गई है। इसे लेकर लोग प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी से सवाल पूछ रहे हैं। आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता और वरिष्ठ पत्रकार आशुतोष ने भी एक लेख लिखकर पीएम मोदी से पूछा है कि चीन को लाल आंख कब दिखाओगे। आशुतोष ने अपने इस लेख को ट्वीट कर शेयर किया है। जिसके बाद यूजर्स ने आशुतोष पर निशाना साधते हुए उन्हें ट्रोल करना शुरू कर दिया है।

वरिष्ठ पत्रकार ने लेख शेयर कर लिखा “मोदी जब सीएम थे तब मनमोहन सिंह से पूछा था अब देश पूछ रहा है, चीन को लाल आंख कब दिखाओगे मोदी जी?” उनके इस ट्वीट पर एक यूजर ने लिखा “चीन को लाल आंख बाद मे दिखाना, पहले देश मे बैठे देशद्रोहीयो का सफाया करना चाहिए सरकार को।” एक ने लिखा “आप से पूछ कर नहीं करेंगे क्योंकि आप तो चीन की गोद में बैठकर ही सवाल करते हैं ।आप जैसे लोग सिर्फ घर में बैठकर कुत्ते के साथ बिस्कुट खाइये।सरकार अपना काम कर रही है।भारतीय सेना के पराक्रम पर एक शब्द नहीं लिखा आपने।संभल जाइए नमक आप भारत का ही खाते हैं या वो भी चीन से आता है।”

मेजर शैतान सिंह: भारतीय सेना के इस बाहुबली ने 1962 में 1300 चीनी सैनिकों को कर दिया था ढेर

एक यूजर ने लिखा कि सेना ने 43 लोगों को मारा है आपका नंबर भी जल्द आयेगा। एक ने लिखा “लद्दाख बॉर्डर पर जाओगे?? बताओ बताओ है दम तो जाओ नहीं तो यहाँ ट्वीट मत करो।” एक ने लिखा “एक सैनिक भी शहीद नहीं होता लेकिन चीनी सैनिकों ने रात के अंधेरे में धोखे से हमारे निहत्थे सैनिकों पर हमला किया, फिर भी हमारे जवानों ने 20 का बदला 43 से लिया, बावजूद इसके यहाँ कुछ ‘बुद्धू’जीवी सेना की पीठ थपथपाने की बजाए मोदी का सीना नाप रहे हैं। लानत है।”

बता दें अपने लेख में आशुतोष ने लिखा है कि प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी ने चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग को साबरमती में झूला भी झुलाया और चेन्नई के महाबलीपुरम में उनका भव्य स्वागत भी किया। मोदी खुद भी कई बार चीन गए। लेकिन बावजूद इसके चीन ने अपना भारत विरोधी रवैया नहीं छोड़ा। न्यूक्लियर सप्लायर्स ग्रुप में भारत की सदस्यता का मसला हो या फिर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की स्थायी सदस्यता का। इन सभी मसलों पर चीन हर मंच पर भारत के ख़िलाफ़ खड़ा दिखा। उसने खुलकर यह भी कहा कि वह चट्टान की तरह पाकिस्तान के साथ खड़ा है। यानी, उसने कहीं से भी किसी भी मुद्दे पर हमारी नाराज़गी की कोई परवाह नहीं की।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 चीन से झड़प के बाद आर्म्ड फोर्सेज को युद्ध स्टॉक बढ़ाने को दिए गए अधिकार, नेवी और एयर फोर्स को चीन की तरफ तैनाती के आदेश
2 छह साल में पीएम मोदी करते रहे हैं चीन-नेपाल के प्रमुखों संग बैठक, लेकिन दोनों ने पींठ में छुरा भोंका, पाकिस्तान भी कर रहा खुराफात
3 भारत-चीन खूनी झड़प: चार भारतीय जवानों की हालत गंभीर, यूएन ने हालात पर जताई चिंता, शी जिनपिंग के जलाए जा रहे पुतले
राशिफल
X