ताज़ा खबर
 

असम चुनाव: कुर्बानियां दूंगा, बीजेपी को हटाना है मकसद- बोले AIUDF चीफ बदरूद्दीन अजमल

उनका कहना है कि वो लोगों को यह कहकर मूर्ख बना रहे हैं कि शेर आ रहा है, शेर आ रहा है, लेकिन वह कोई शेर नहीं हैं, बल्कि एक इंसान हैं।

Lok Sabha MP Badruddin AjmalAIUDF चीफ बदरूद्दीन अजमल (फोटो सोर्सः ट्विटर/@OpIndia_com)

AIUDF चीफ बदरूद्दीन अजमल ने आक्रामक तेवर दिखाते हुए कहा कि उनका मकसद बीजेपी को असम की सत्ता से बाहर करना है। इसके लिए वह कांग्रेस के साथ मिलकर लड़ाई लड़ेंगे। बकौल अजमल वह कुर्बानी देकर बीजेपी को हराएंगे, क्योंकि बीजेपी एक समुदाय विशेष के खिलाफ घृणा फैलाने का काम कर रही है। उनका कहना था कि हेमंत बिस्वा सर्मा सीएम बनने के लिए बंटवारे की राजनीति कर रहे हैं।

अजमल ने कहा कि बीजेपी लोगों को बांटने का काम कर रही है। उनका कहना है कि वो लोगों को यह कहकर मूर्ख बना रहे हैं कि शेर आ रहा है, शेर आ रहा है, लेकिन वह कोई शेर नहीं हैं, बल्कि एक इंसान हैं। ध्यान रहे कि बीजेपी पिछले कुछ माह से लगातार अजमल को निशाना बना रही है। हेमंत बिस्वा सर्मा ने हाल ही में इत्र लगाने वालों को असम का दुश्मन तक करार दिया था। अजमल इससे चिढ़े हुए हैं।

अजमल भी बीजेपी पर लगातार हमला करने से नहीं चूक रहे हैं। हाल ही में उन उन्होंने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा था कि अगर 2024 के चुनाव में बीजेपी फिर से सत्ता में आती है तो वह देश के 3,500 मस्जिदों को ध्वस्त कर देगी। बदरुद्दीन ने दावा किया है कि भाजपा ने अभी से देश भर की 3,500 मस्जिदों की लिस्ट बना ली है जिसे 2024 के आम चुनावों में सरकार बनने के बाद गिराया जाएगा। एआईयूडीएफ चीफ ने आरोप लगाया कि बीजेपी महिलाओं, ट्रिपल तलाक, मस्जिदों और देश की दुश्मन है।

अजमल ने कहा था कि कुरान ने ट्रिपल तलाक को मंजूरी दी थी लेकिन मोदी सरकार ने इसे समाप्त कर दिया। भाजपा ने बाबरी मस्जिद को भी ध्वस्त कर दिया और अब मस्जिद की जगह एक मंदिर बनाने की योजना बना रही है। गौरतलब है कि इस साल पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक गलियारे में हलचल मची हुई है। असम में बीजेपी को रोकने के लिए कांग्रेस ने पांच राजनीतिक दलों संग गठबंधन में चुनाव लड़ने का ऐलान किया जिनमें से एक पार्टी बदरुद्दीन अजमल की AIUDF है।

सबसे ज्‍यादा पढ़ी गई
Next Stories
1 BSP के पूर्व सांसद के खिलाफ शाजिया इल्मी ने दर्ज कराया उत्पीड़न का केस, आरोप- ‘कृषि कानूनों पर हो रही थी चर्चा, तब कीं आपत्तिजनक टिप्पणियां’
2 तेल के दाम और दाढ़ी में फर्क होता है साहेब, लगातार बढ़ाए जा रहे हो, वायरल हो रहा तेज प्रताप का ट्वीट
3 सिंघु बॉर्डर पर किसानों का आंदोलन नहीं बल्कि भू-माफियाओं का आंदोलन है- डिबेट में लेखिका के बिगड़े बोल
आज का राशिफल
X