ताज़ा खबर
 

सरकार के पास दो माह का वक्त है, बातचीत कर ले, नहीं तो ट्रैक्टर लाल किले का रास्ता भी जानते हैं…बोले टिकैत

राकेश टिकैत ने एक टीवी चैनल से बातचीत में संकेत दिए हैं कि आने वाले यूपी और पंजाब विधानसभा चुनाव में किसान नेता भी चुनावी मैदान में उतर सकते हैं। टिकैत ने कहा कि सितंबर के महीने में मुजफ्फरनगर में किसानों की एक महा पंचायत होगी, जिसमें आगे की रणनीति पर फैसला लिया जाएगा।

दिल्ली के गाजीपुर बॉर्डर पर प्रदर्शन के दौरान मौजूद किसान नेता राकेश टिकैत (फोटोः एजेंसी)

किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा है कि सरकार को सितंबर तक का समय है। सरकार किसानों की बात मानकर कानून वापस ले एमएसपी को कानून बनाए अन्यथा इस बार संघर्ष बड़ा होगा। उन्होंने एक तरह से सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि किसानों के ट्रैक्टर लाल किले का ही नहीं संसद का भी रास्ता जानते हैं।

उधर, गाजीपुर बॉर्डर पर धरना दे रहे राकेश टिकैत ने एक टीवी चैनल से बातचीत में संकेत दिए हैं कि आने वाले यूपी और पंजाब विधानसभा चुनाव में किसान नेता भी चुनावी मैदान में उतर सकते हैं। टिकैत ने कहा कि सितंबर के महीने में मुजफ्फरनगर में किसानों की एक महा पंचायत होगी, जिसमें आगे की रणनीति पर फैसला लिया जाएगा। एक सवाल के जवाब में टिकैत ने कहा कि ये पंचायत संयुक्त किसान मोर्चा की होगी। इसमें सारी बातों पर मंथन करके सटीक फैसला लिया जाएगा।

टीवी चैनल की खबर के मुताबिक, राकेश टिकैत ने कहा कि सितंबर में मुजफ्फरनगर में होने वाली महापंचायत में यूपी के साथ-साथ हरियाणा और पंजाब के किसान भी शामिल होंगे। वहीं, विधानसभा चुनाव लड़ने के सवाल पर राकेश टिकैत ने सवाल पूछा कि क्या चुनाव लड़ना गलत बात है? जो वोट दे सकते हैं, वो खुद चुनाव लड़ने का फैसला भी कर सकते हैं।

ध्यान रहे कि पिछले साल सितंबर में संसद से पास किए गए कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब, हरियाणा और वेस्ट यूपी के किसान 8 महीनों से भी ज्यादा समय से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। सरकार दो टूक कह चुकी है कि वो कानून वापस नहीं लेने जा रही। अगर किसान बातचीत करना चाहे तो विकल्प अभी खुला हुआ है।

किसानों का कहना है कि वो किसी सूरत में कानून वापसी तक वापस नहीं लौटने वाले। किसानों के तेवर इस समय सख्त हैं। हरियाणा पंजाब के साथ पश्चिमी यूपी में किसान तीखे तेवर अख्तियार किए हुए हैं। हरियाणा में आए दिन सरकार के मंत्रियों के घेराव की खबरें आ रही हैं। रविवार को सिरसा में डिप्टी स्पीकर की कार के शीशे तक तोड़ दिए गए थे।

Next Stories
1 5जी: कोर्ट ने जूही चावला की याचिका पर सुनवाई टाली, जज ने केस से खुद को कर लिया अलग
2 Air India के अफसरों संग सिंधिया ने ली बैठक, टेबल पर फूल-कोल्ड ड्रिंक और जूस देख लोग बोले- कर्ज तभी कम कर पाएंगे जब ध्यान टेबल के खर्चों पर जाएगा
3 IAS अफसर ने कोर्ट के दो जाली फैसले कर दिए तैयार! खुद को दिखाया दोषमुक्त; गिरफ्तार, जानें- पूरा मामला
ये पढ़ा क्या?
X