ताज़ा खबर
 

मुशर्रफ ने कबूला भारत के खिलाफ किया एक-एक गुनाह, डोवाल बोले- सारी समस्‍या की जड़ है पाकिस्‍तान

पाकिस्‍तान के पूर्व राष्‍ट्रपति परवेज मुशर्रफ का वीडियो सामने आने के बाद राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल ने उन्‍हें करार जवाब दिया।

Author नई दिल्ली | October 28, 2015 9:51 AM
पाक के पूर्व राष्‍ट्रपति परवेज मुशर्रफ का वीडियो सामने आने के बाद राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल ने उन्‍हें करार जवाब दिया।

पाकिस्‍तान के पूर्व राष्‍ट्रपति परवेज मुशर्रफ का वीडियो सामने आने के बाद राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल ने उन्‍हें करार जवाब दिया।

मंगलवार को सामने आए वीडियो में मुशर्रफ यह स्‍वीकार करते दिखाई दे रहे हैं कि पाकिस्‍तान ने भारत के खिलाफ आतंकियों को तैयार किया। मुशर्रफ वीडियो में कह रहे हैं कि मुंबई हमलों का गुनहगार हाफिज सईद और ओसामा बिन लादेन पाकिस्‍तान के हीरो थे।

उनके इस इंटरव्‍यू के सामने आने के बाद डोवाल ने भी करार जवाब दिया। उन्‍होंने मंगलवार को नागेंद्र सिंह मेमोरियल लेक्चर के दौरान कहा कि पाकिस्तान अपनी कायराना हरकतों से बाज आए। उसकी तरक्की तभी होगी जब वह भारत और अन्य दक्षिण एशियाई देशों से संबंध सुधारेगा।

जब तक वह ऐसा नहीं करता, तब तक भारत कर ही क्या सकता है? हमें उसे राजी करने के लिए पूरी गंभीरता से प्रयास करते रहना होगा। पाकिस्तान को जो भाषा समझ में आती है, उसी भाषा में बात करनी होगी। दक्षिण एशिया में पाक ही वह देश है जहां समस्या की जड़ है।

मुशर्रफ बोले, अब आ गया है हाफिज सईद से पीछा छुड़ाने का वक्‍त

25 अक्‍टूबर को ‘दुनिया टीवी’ को दिए इंटरव्‍यू में परवेज मुशर्रफ ने कहा कि अफगानिस्‍तान में जब सोवियत के खिलाफ जंग लड़ी जा रही थी तब हमने ही ओसामा बिन लादेन और जलालुद्दीन हक्‍कानी को खड़ा किया था। वो 1979 का दौर था, जब लादेन और हक्‍कानी हमारे हीरो थे। फिर 90 में कश्‍मीर में पाकिस्‍तान ने बहुत सारे आतंकी संगठनों को खड़ा किया। वे कश्‍मीर में अपना हक मांग रहे थे और हमने उन्‍हें ट्रेंड किया था, लेकिन अब ये आतंकी हमारे ही दुश्‍मन बन गए हैं। ऐसा इसलिए हुआ, क्‍योंकि जिस रिलीजियस मिलिटेंसी की शुरुआत हमने की थी, वह अब टेररिज्म में तब्दील हो गई है। पहले उसका पॉजीटिव इंपैक्‍ट था, लेकिन अब यह नेगेटिव हो गया है। अब ये हमारे यहां धमाके कर रहे हैं।

लगातार ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट्स, एनालिसिस, ब्‍लॉग पढ़ने के लिए आप हमारा फेसबुक पेज लाइक करें, गूगल प्लस पर हमसे जुड़ें  और ट्विटर पर भी हमें फॉलो करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App