ताज़ा खबर
 

रंजीत बच्चन मर्डर केसः पुलिस का दावा- दूसरी पत्नी ने रची थी हत्या की साजिश, पहली पत्नी ने लगाया था मुसलमानों पर आरोप

रंजीत की दूसरी पत्नी का कथित तौर पर एक्सट्रा मैरिटल अफेयर था और वह किसी अन्य से शादी करना चाहती थी। वहीं हत्या के बाद रंजीत बच्चन की पहली पत्नी ने 'मुसलमानों' पर अपने पति की हत्या का आरोप लगाया था।

Author Edited By रवि रंजन लखनऊ | Updated: February 7, 2020 8:35 AM
पुलिस की गिरफ्त में एक आरोपी। (Express Photo)

उत्तर प्रदेश के लखनऊ में हिंदूवादी नेता रंजीत बच्चन की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में पुलिस ने गुरुवार हत्या के मामले में रंजीत बच्चन की दूसरी पत्नी सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। कुछ सालों से दोनों अलग-अलग रह रहे हैं। पुलिस ने दावा किया कि 40 वर्षीय रंजीत की हत्या की योजना उसकी दूसरी पत्नी ने बनाई थी। रंजीत की पत्नी का कथित तौर पर एक्सट्रा मैरिटल अफेयर था और वह किसी अन्य से शादी करना चाहती थी। वहीं हत्या के बाद रंजीत बच्चन की पहली पत्नी ने ‘मुसलमानों’ पर अपने पति की हत्या का आरोप लगाया था।

रविवार को लखनऊ के हजरतगंज इलाके में सुबह टहलने के दौरान रंजीत की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। रंजीत की दूसरी पत्नी स्मृति श्रीवास्तव के अलावा उसके कथित प्रेमी दीपेंद्र वर्मा और उसके ड्राइवर संजीत गौतम को भी गिरफ्तार किया गया है। पुलिस अभी तक कथित हत्यारे जितेंद्र को गिरफ्तार नहीं कर सकी है। हालांकि पुलिस ने इस हत्या के पीछे किसी भी आतंकी कनेक्शन को खारिज कर दिया और दावा किया कि हत्या के पीछे का मकसद उसके परम वर्मा के साथ स्मृति का कथित संबंध था। उन्होंने कहा कि दोनों ने कथित तौर पर साजिश रची थी क्योंकि रणजीत स्मृति को छोड़ने के लिए तैयार नहीं था।

लखनऊ के पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडे ने मीडिया को बताया कि पुलिस ने गुरुवार को लखनऊ के विकास नगर कॉलोनी से स्मृति, मोहनलालगंज एरिया से गौतम और यूपी-बिहार के बार्डर से वर्मा को गिरफ्तार किया है। उन्होंने कहा कि जितेंद्र की गिरफ्तारी में मदद करने वाले के लिए 50,000 रुपये का इनाम घोषित किया गया था। पुलिस ने बताया कि वर्मा साजिश के मुख्य साजिशकर्ता और स्मृति हिस्सा थे। गौतम अपराध के दौरान इस्तेमाल किया गया गाड़ी चला रहा था।

रविवार की सुबह रंजीत अपने चचेरे भाई आदित्य श्रीवास्तव के साथ सुबह की सैर पर गए थे। इस दौरान हमलावरों ने उन्हें रोका और गोलियां चला दीं। एक गोली रंजीत के चेहरे पर लगी, जबकि आदित्य के बाएं हाथ में गोली लगी। पुलिस ने शुरू में कहा था कि हमलावर मोबाइल फोन छीनना चाहते थे।

गोरखपुर के रहने वाले रंजीत विश्व हिंदू महासभा के अध्यक्ष थे और अपनी पहली पत्नी कालिंदी शर्मा बच्चन के साथ हजरतगंज में रहते थे। हत्या के बाद कालिंदी ने ‘मुसलमानों’ पर अपने पति की हत्या का आरोप लगाया था क्योंकि वह ‘हिंदूवादी नेता’ थे। इसके बाद जांच के क्रम में पुलिस ने संदिग्धों की तस्वीरें जारी कीं और उन पर 50,000 रुपये का इनाम घोषित किया। पुलिस ने कहा कि रंजीत अपनी दूसरी पत्नी के साथ नियमित संपर्क में था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Weather Forecast: महाराष्ट्र में दो दिन तक बारिश होने के आसार, इन जगहों पर भी बरसेंगे बादल
2 Delhi Election: …और अंत में महाबली खली
3 एमपी: भीड़ ने एक को मारा और 5 को किया घायल, उकसाने के आरोप में धरा गया BJP नेता
ये पढ़ा क्या?
X