ताज़ा खबर
 

अरुणाचल के गवर्नर की पत्‍नी का बदमाशों ने किया पीछा, पुलिस को मिला हेल्‍पलाइन नंबर बनाने का आदेश

गवर्नर ने राजभवन के ड्राइवर जीतूमणि नाथ को प्रशस्‍त‍ि पत्र और 21 हजार रुपए का इनाम दिया है।
अरुणाचल प्रदेश के गवर्नर जेपी राजखोवा (FILE PHOTO)

पांच दिन पहले कुछ बदमाशों ने अरुणाचल प्रदेश के गवर्नर जेपी राजखोवा की पत्‍नी का गुवाहाटी से ईटानगर जाते वक्‍त नेशनल हाइवे पर न केवल पीछा किया बल्‍क‍ि उन्‍हें रोकने की कोशिश भी की थी। अब गवर्नर ने पुलिस को आदेश दिया है कि वे हेल्‍पलाइन नंबर स्‍थापित करें ताकि मुसीबत में फंसे लोग तुरंत मदद मांग सकें। गवर्नर ने यह भी कहा कि हाइवे पर नियमित तौर पर पुलिस पेट्रोल जरूरी है। गुरुवार को ही गवर्नर ने राजभवन के ड्राइवर जीतूमणि नाथ को प्रशस्‍त‍ि पत्र और 21 हजार रुपए का इनाम दिया है। यह इनाम बदमाशों द्वारा पीछा किए जाने के बावजूद विपरीत परिस्‍थ‍ितियों से निकलने और तुरंत पुलिस को सूचित करने के लिए दिया गया।

राजभवन की ओर से जारी प्रेस रिलीज में गवर्नर राजखोवा के हवाले से कहा गया, ‘अरुणाचल प्रदेश के डीजीपी को असम के अपने समकक्ष से बाचतीत करके एक ऐसा मेकेनिज्‍म बनाना चाहिए जिससे कम से कम तीन हेल्‍पाइन नंबर मुहैया कराए जा सकें। ये नंबर चौबीस घंटे एक्‍ट‍िव हों ताकि असम और अरुणाचल प्रदेश में हाइवे पर सफर करने वाले लोग जरूरत पड़ने पर वक्‍त रहते मदद पा सकें।’ गर्वनर ने लोगों से खासतौर पर हाइवे पर उत्‍पीड़न, वसूली और दूसरे अपराधों के पीडि़तों से अपील की कि वे आगे आएं और आधिकारिक शिकायत या एफआईआर दर्ज कराएं।

क्‍या है मामला
चार जून को अरुणाचल प्रदेश की फर्स्‍ट लेडी रीता राजखोवा राजभवन की एक गाड़ी में गुवाहाटी से ईटानगर के सफर पर थीं, तब कुछ बदमाशों ने उनका पीछा किया था। ये बदमाश मारुति स्‍वि‍फ्ट डिजायर में सवार थे। ये बदमाश गुवाहाटी के बाहरी इलाके सोनापुर से ही उनके पीछे लग गए और उनकी गाड़ी का तब तक पीछा किया जब तक कि वे जगीरोड नहीं पहुंच गए। वहां पहुंचकर रीता ने पुलिस को जानकारी दी। पुलिस ने इस मामले में छह लोगों को गिरफ्तार किया है। इसमें से तीन लोग यूपी के रहने वाले हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App