ताज़ा खबर
 

कुंवारे क्यों हैं?- अटल बिहारी से हुआ था तब सवाल, था जवाब- मिली थी आदर्श पत्नी, पर उसे भी थी ‘आदर्श पति’ की तलाश

अटल बिहारी वाजपेयी से एक महिला पत्रकार ने पूछा, 'आपने शादी क्यों नहीं की?' अटल ने जवाब दिया, आदर्श पत्नी की तलाश में।

जयंती, Atal birthdayपूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी।

दिग्गज राजनेता और कुशल वक्ता पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहार वाजपेयी अपनी मुखरता और हाजिर जवाबी की वजह से भी जाने जाते हैं। उनकी स्पष्टवादिता और बोलने के अंदाज की आज भी हर कोई प्रशंसा करता है चाहे वह विरोधी पार्टी का ही क्यों न हो। आज यानी 25 दिसंबर को उनका जन्मदिन है। उनके जीवन से जुड़े कई ऐसे वाकये हैं जो हमेशा याद रखे जाएंगे।

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की कटुता कई बार लोगों की बोलती बंद कर देती थी और वह बात यादगार हो जाती थी। खास बात यह थी कि कोई उनकी बात का बुरा भी नहीं मानता था। उनके भाषण पर कई बार विपक्षी दल के नेता भी ताली बजाने लगते थे। अटल बिहार वाजपेयी आजीवन कुंवारे रहे। इसको लेकर अकसर उनसे कोई न कोई सवाल भी पूछ लेता था। अटल इसका जवाब भी मजेदार देते थे।

एक महिला पत्रकार ने एक बार अटल से पूछ लिया, ‘आप कुंवारे क्यों हैं?’ अटल ने तत्काल जवाब दिया, आदर्श पत्नी की खोज में। इसपर महिला पत्रकार ने फिर पूछा मिली या नहीं? वाजपेयी फिर बोले- ‘मिली तो थी लेकिन उसे भी आदर्श पति की तलाश थी।’ ये सुनते ही आसपास के लोग ठहाके लगाने लगे।

अटल ऐसे खुशमिजाज नेता थे जो चुनाव हारने के बाद भी मूवी देखने पहुंच जाते थे। जनसंघ के दौरान जब उनको हार मिली तो वह इंपीरियल सिनेमा में मूवी देखने चले गए। वहां उन्होंने ‘फिर सुबह’ होगी फिल्म देखी। वह लालकृष्ण आडवाणी के साथ फिल्म देखने गए थे।

1977 में जब जनसंघ की सरकार बनी तब पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी बहुत घबराई हुई थीं। उस वक्त अटल बिहारी वाजपेयी सीधा इंदिरा के आवास पर पहुंच गये थे। उन्होंने आश्वासन दिया कि नई सरकार में किसी भी तरह की बदले की कार्रवाई नहीं की जाएगी। उस वक्त लोगों में इंदिरा गांधी के खिलाफ काफी गुस्सा था। 16 अगस्त 2018 को दिल्ली में उनका निधन हो गया था। इससे पहले कई वर्षों तक वह सक्रिय राजनीति से बहुत दूर रहे। काफी समय से उनका स्वास्थ्य भी ठीक नहीं था। अटल बिहारी वाजपेयी के भाषण आज भी लोगों को रोमांचित कर देते हैं।

Next Stories
1 MSP थी, है और रहेगी…बोले शाह, राजनाथ ने दिया वचन; कृषि मंत्री ने कहा- बातचीत से ही बनेगी बात
2 हिंदुओं, सिखों के लिए हलाल मीट है मना- निगम प्रस्ताव में बात; रेस्त्रां-दुकानों को बताना होगा बेच रहे हलाल या झटका में कौन सा मांस
3 यूपी BJP चीफ ने बांधे कुमार विश्वास की तारीफ़ों के पुल
ये पढ़ा क्या?
X