ताज़ा खबर
 

इन दिनों लंदन मेें क्‍यों है मुंबई की आर्थर रोड जेल की चर्चा, जानिए 95 साल पुरानी इस जेल की कहानी

कोरोना वायरस के संक्रमण के बीच नीरव मोदी ने कोर्ट से कहा था कि इस जेल में पर्याप्त जगह नहीं है और स्वास्थ्य के लिहाज से अच्छी मेडिकल व्यवस्थाएं भी नहीं हैं।

Author Translated By Naveen Rai नई दिल्ली | Updated: September 18, 2020 6:10 PM
Nirav Modi, UK, Mumbai Jail भारत सरकार द्वारा लगाए गए धनशोधन और धोखाधड़ी के आरोपों में भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी को इसी जेल में रखा जाना है। (फाइल फोटो)

महाराष्ट्र के मुंबई स्थित आर्थर रोड जेल की चर्चा इन दिनों इंग्लैंड के लंदन तक है।  भारत सरकार द्वारा लगाए गए धनशोधन और धोखाधड़ी के आरोपों में भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी के प्रत्यर्पण को लेकर हो रही सुनवाई में इस जेल की चर्चा है। दअरसल, अगर नीरव मोदी का प्रत्यर्पण होता है तो नीरव मोदी को इसी जेल में रखा जाना है।

लंदन में प्रत्यर्पण की सुनवाई के दौरान नीरव मोदी के वकील ने दलील दी थी कि इस जेल की हालत ठीक नहीं है। कोरोना वायरस के संक्रमण के बीच नीरव मोदी ने कोर्ट से कहा था कि इस जेल में पर्याप्त जगह नहीं है और स्वास्थ्य के लिहाज से अच्छी मेडिकल व्यवस्थाएं भी नहीं हैं।
इससे पहले साल 2018 में विजय माल्या ने भी जेल की व्यवस्था को लेकर शिकायत दर्ज कराई थी और कहा था कि यहां प्राकृतिक रौशनी नहीं आती है और यह मानवाधिकारों का उल्लंघन है।

बता दें कि अगर नीरव मोदी और विजय माल्या का प्रत्यर्पण होता है तो दोनों को ऑर्थर रोड जेल की बैरिक नंबर 12 में रखा जाना है।
लंदन की अदालत को हाल ही में ऑर्थर रोड की वीडियो भेजी गई थी जिसकी कोर्ट ने समीक्षा की थी। पंजाब नेशनल बैंक के साथ करीब दो अरब अमेरिकी डॉलर घोटाला मामले में भारतीय पक्ष का प्रतिनिधित्व कर रही क्राउन प्रॉसिक्यूशन सर्विस ने अदालत को वीडियो दिखाया था और जेल में कोरोना वायरस परीक्षण तथा अन्य सुरक्षा उपायों के संबंध में जानकारी दी थी।

ऑर्थर रोड जेल का इतिहास: बता दें कि जेल की स्थापना 1925-26 में अंग्रेजों ने की थी। जिस सड़क पर इसे बनाया गया था, उसका नाम सर जॉर्ज आर्थर के नाम पर आर्थर रोड रखा गया, जो 1842-46 तक बॉम्बे के गवर्नर थे। मजदूर वर्ग के आंदोलन से जुड़े शिक्षक और सामाजिक कार्यकर्ता पंडित सदाशिव साने के नाम पर 1970 के दशक में इस सड़क का नाम बदलकर साने गुरुजी मार्ग कर दिया गया। हालांकि जेल का आधिकारिक नाम मुंबई सेंट्रल जेल है। आर्थर रोड जेल का नाम पुलिस हलकों और अदालत के दस्तावेजों में व्यापक रूप से इस्तेमाल किया जाता है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पत्‍नी को कहा- कोरोना पॉजिटिव हूं, जुलाई से था लापता, अब गर्लफ्रेंड के साथ पकड़ा गया
2 AAP के संजय सिंह पर राजद्रोह का भी केस, बोले- COVID-19 घोटाले में किया योगी सरकार को बेनकाब, इसलिए लगा ये आरोप; संसद में भी उठाई आवाज
3 कृषि सुधार विधेयक: ऐसा क्या है इन विधेयकों में जो एनडीए में पड़ गई फूट, सड़क पर उतरे हैं किसान? जानें सब कुछ
यह पढ़ा क्या?
X