ताज़ा खबर
 

कुलभूषण जाधव केस में पाकिस्तान की नयी पैंतरेबाजी, सरताज अजीज ने कहा-बेकसूर शख्स हिंदू और मुसलमान नाम से अलग-अलग पासपोर्ट क्यों रखता है?

भारत के रिटायर्ड नेवी ऑफिसर कुलभूषण जाधव की पाकिस्तान से सुरक्षित वापसी के लिए भारत सरकार ने कोशिशें तेज कर दी है।

नवाज शरीफ के विदेशी मामलों के सलाहकार सरताज अजीज (Photo: AP)

कुलभूषण जाधव मामले में पाकिस्तान रोज रोज नये पैंतरेबाजी दिखा रहा है। शुक्रवार (14 अप्रैल) को विदेश मामलों के पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के सलाहकार सरताज अजीज ने नया राग छेड़ा। उन्होंने कहा कि अगर कुलभूषण जाधव बेकसूर है तो वो हिन्दू और मुसलमान बनकर अलग अलग नाम से दो पासपोर्ट क्यों रखे हुए था। बता दें कि पाकिस्तान ने दावा किया है कि कुलभूषण जाधव के पास से दो पासपोर्ट बरामद हुए हैं। सरताज अजीज ने कहा कि भारत सरकार ये नहीं बता पाई है कि उनका नेवी कमांडर पाकिस्तान में क्या कर रहा था। सरताज अजीज ने ये भी कहा कि कुलभूषण जाधव पाकिस्तानी सैन्य अदालत के फैसले के खिलाफ 40 दिनों के अंदर अपील कर सकता है। बता दें कि कुछ ही दिन पहले सरताज अजीज ने ही कहा कि पाकिस्तान के पास कुलभूषण जाधव के खिलाफ मुकदमा चलाने के लिए जरूरी सबूत मौजूद नहीं है।

इधर भारत के रिटायर्ड नेवी ऑफिसर कुलभूषण जाधव की पाकिस्तान से सुरक्षित वापसी के लिए भारत सरकार ने कोशिशें तेज कर दी है। शुक्रवार (14 अप्रैल) को पाकिस्तान में भारत के उच्चायुक्त गौतम बंबावाले ने पाकिस्तान की विदेश सचिव तहमीना जंजुआ से मुलाकात की और भारत की ओर से तीन मांग पाकिस्तान के सामने रखी।

पहली मांग

भारत ने पाकिस्तान सरकार से कुलभूषण जाधव के खिलाफ लगाये गये चार्जशीट की कापी मांग की है। ताकि भारत कुलभूषण के आरोपों को पढ़ सके और उसी के बुनियाद पर इस सजा के खिलाफ अपील कर सके।

दूसरी मांग

भारत के उच्चायुक्त गौतम बंबावाले ने पाकिस्तान की विदेश सचिव तहमीना जंजुआ से पाकिस्तान के सैन्य अदालत के फैसले की कॉपी भी मांगी है।

तीसरी मांग

भारत सरकार ने पाकिस्तान स्थित अपने उच्चायोग के अधिकारियों के जरिये कुलभूषण जाधव से मिलने की मांग की है, ताकि भारत सरकार कुलभूषण जाधव का हाल चाल जान सके। लेकिन भारत सरकार के इस मांग के जवाब में पाकिस्तान की विदेश सचिव तहमीना जंजुआ ने कहा कि चूंकि ये मामला जासूसी का है इसलिए भारत की ये मांग पूरी नहीं की जा सकती है। लेकिन भारत सरकार का कहना है कि अंतर्राष्ट्रीय कानून के मुताबिक भारतीय पक्ष को कुलभूषण जाधव से मिलने की इजाजत मिलनी चाहिए। भारत सरकार 14 बार पाकिस्तान से कुलभूषण यादव से मिलाने की मांग कर चुका है।

GBU-43: 'मदर ऑफ ऑल बॉम्ब' के बारे में जानिए ये 5 मुख्य बातें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App