ताज़ा खबर
 

अफजल गुरू को क्‍यों बनाया बलि का बकरा, जांच हो- महेश भट्ट की एक्‍ट्रेस पत्‍नी सोनी राजदान की मांग

ट्वीट करते हुए सोनी राजदान ने लिखा कि "यही न्याय की कमी है। यदि वह निर्दोष है तो फिर कौन उस आदमी को वापस लेकर आएगा, जो मर चुका है।"

afzal guruसंसद हमले का दोषी अफजल गुरू और गिरफ्तार डीएसपी देविन्दर सिंह। (फाइल)

मशहूर फिल्मकार महेश भट्ट की पत्नी सोनी राजदान ने अफजल गुरू को लेकर एक ट्वीट किया है। अपने ट्वीट में सोनी राजदान ने लिखा है कि ‘अफजल गुरू को बलि का बकरा क्यों बनाया गया, इसकी जांच होनी चाहिए।’ बता दें कि जम्मू कश्मीर में आतंकियों की मदद करने के आरोप में हाल ही में जम्मू कश्मीर पुलिस के अधिकारी देविंदर सिंह को गिरफ्तार किया गया है।

जिसके बाद खुलासा हुआ कि संसद हमले के दोषी अफजल गुरू ने अपने वकील को लिखे एक पत्र में देविंदर सिंह पर आरोप लगाए थे, देविंदर सिंह ने ही उसे दिल्ली भेजा था।

द प्रिंट ने इस संबंध में एक खबर पब्लिश की है। इसी खबर को ट्वीट करते हुए सोनी राजदान ने लिखा कि “यही न्याय की कमी है। यदि वह निर्दोष है तो फिर कौन उस आदमी को वापस लेकर आएगा, जो मर चुका है। इसी लिए मौत की सजा को हल्के में नहीं लिया जाना चाहिए। इसके साथ ही इस बात की भी पुख्ता जांच किए जाने की जरूरत है कि अफजल गुरू को बलि का बकरा क्यों बनाया गया?”

अफजल गुरू को संसद भवन पर हमले के मामले में दोषी पाए जाने के बाद 9 फरवरी 2013 को दिल्ली की तिहाड़ जेल में फांसी दे दी गई थी। अफजल गुरू ने अपने वकील सुशील कुमार को जेल से एक पत्र लिखा था। इस पत्र में अफजल गुरू ने जम्मू कश्मीर पुलिस के अधिकारियों ने उसे प्रताड़ित किया और फिर उसे एक आदमी से मिलवाया, जो कि बाद में संसद हमले में शामिल रहा।

अफजल गुरू ने पत्र में लिखा है कि जम्मू कश्मीर पुलिस के अधिकारी देविन्दर सिंह ने ही उसे संसद हमले के आरोपी के लिए कार और रुकने का इंतजाम करने के निर्देश दिए थे। देविन्दर सिंह की गिरफ्तारी के बाद अफजल गुरू का यह पत्र चर्चा में आ गया है। हालांकि उस वक्त उसके पत्र को लेकर कोई जांच नहीं की गई थी। फिलहाल एनआईए देविन्दर सिंह से पूछताछ कर रही है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 भारतीय जीडीपी पर बयान देकर सुर्खियों में आयी गीता गोपीनाथ ल‍िख चुकी हैं 40 र‍िसर्च पेपर, हैं IMF की पहली भारतीय मह‍िला चीफ इकोनॉम‍िस्‍ट
2 CAA पर राहुल बाबा एंड कंपनी कांव-कांव कर रही, लेकिन डंके की चोट पर कहता हूं इसे वापस नहीं लेंगे: अमित शाह
3 खट्टर-विज के टकराव में फंस गए अफसर, इनपुट न दे पाने पर नपे CID चीफ, दाखिल हुई चार्जशीट
कृषि कानून विवाद
X