ताज़ा खबर
 

किसके फेवर से आगे बढ़े हैं? रामदेव से पूछा तो बोले थे- छोड़ दो ये सवाल…

योग गुरु ने कहा कि योग और आयुर्वेद में सबका इलाज है। दुनिया की कोई भी बीमारी हो उसका हम इलाज करते हैं। जो चीज कहीं नहीं है, वह हमारे पास है। योग से एंटीबायोटिक बना दिया हूं। इम्युनिटी बढ़ा दी है।

योग गुरु बाबा रामदेव (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस By Prem Nath pandey)

पंतजलि योगपीठ के संस्थापक बाबा रामदेव का कहना है कि वे किसी के फेवर से आगे नहीं बढ़े हैं। वे सिर्फ भगवान के फेवर पर भरोसा करते हैं। जिन्हें कुछ पाने और लेने की चाह नहीं है, वे किसी के फेवर क्यों लेगा। उन्होंने कहा कि किसी की मेहरबानी से यहां तक नहीं पहुंचा हूं। अगर चाहता तो पीएम या राष्ट्रपति बन जाता और आगे चाहूं तो बन सकता हूं, लेकिन इसकी कभी चाह नहीं रही, इसलिए छोड़ दीजिए ये सवाल। किसी का कोई फेवर नहीं है।

मोटिवेशनल स्पीकर डॉ. विवेक बिंद्रा से बातचीत करते हुए बाबा रामदेव ने कहा कि “मोदी जी 2014 में आए और पतंजलि का सर्वाधिक ग्रोथ रेट 2009 से 2013 तक था। मेरे ऊपर किसी भी सरकार की कोई मेहरबानी नहीं है। सरकार चाहे पक्ष की हो या विपक्ष की, मेरे ऊपर एक हजार से ज्यादा केस हैं, कई तो नॉन बेलेबल वारंट है। डबल सीबीआई जांच है। एक नहीं दो। करोड़ों रुपए तो हर महीने वकील की फीस में देता हूं। कभी लाखों में और कभी करोड़ में जाता है। मुझे तो भगवान ने मेरी क्षमता से बहुत ज्यादा दिया है। इसलिए किसका डर और किसका फेवर, यह कोई बात नहीं है।”

बाबा रामदेव ने कहा कि हम लोग कभी स्वप्न में भी नहीं सोचे थे कि यहां तक पहुंचूंगा। आचार्य बालकृष्ण एक चौकीदार के बेटे हैं और मैं एक सामान्य जमींदार का बेटा हूं। जिस गांव से आए हैं, वहां अभी तक बस या ट्रेन नहीं पहुंची है। कालेज तो दूर की बात है, हमारे गांव में तो उस वक्त कोई आठवीं से ज्यादा पढ़ा भी नहीं था। लड़कियां तो वह भी नहीं पा सकी थीं।

उन्होंने कहा कि योग और आयुर्वेद में सबका इलाज है। दुनिया की कोई भी बीमारी हो उसका हम इलाज करते हैं। जो चीज कहीं नहीं है, वह हमारे पास है। योग से एंटीबायोटिक बना दिया हूं। इम्युनिटी बढ़ा दी है। लाखों कोरोना पॉजिटिव को नेगेटिव कर चुका हूं। इससे दुनिया की तमाम कंपनियां और ड्रग्स माफिया हमसे जलते हैं। उन्हें दिक्कत है।

उन्होंने कहा कि कोरोनिल का कोई विकल्प नहीं है। कोरोनिल और योग से कोरोना बिल्कुल दूर हो जाएगा। जिन्होंने इसको अपनाया है, वे ठीक हो चुके हैं। इससे ज्यादा और क्या कहा जाए।

Next Stories
1 SC ने कहा- बंटवारे के बावजूद हिंदू संयुक्त परिवार लौट सकता है वापस, जानिए पूरा मामला
2 नीरव की बहन ने ईडी को सौंपे 17 करोड़ रुपये, भाई के खिलाफ सरकारी गवाह बन चुकी है पूर्वी
3 नीतीश के मंत्री ने दिया इस्तीफाः बोले- ऐसा मंत्री बनकर क्या फायदा
ये पढ़ा क्या?
X