ताज़ा खबर
 

मोदी ने 48 घंटे के लिए कोझिकोड में बना लिया था पूरा पीएमओ, करीब 24000 वर्गफीट में बनवाया था दफ्तर

पीएम नरेंद्र मोदी के दो दिवसीय केरल दौरे में सरकार की 'एकीकृत' राजनीतिक कमांड भी कोझिकोड में मौजूद रही।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केरल में भाजपा की राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में कहा कि मुस्लिमों को वोटबैंक नहीं समझा जाना चाहिए। (photo:PTI)

जम्मू-कश्मीर के उरी में हुए आतंकी हमले के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार (24 सितंबर) को पहली बार किसी सार्वजनिक कार्यक्रम में शामिल हुए। पीएम मोदी केरल के कोझिकोड में हो रही पार्टी की तीन दिवसीय राष्ट्रीय समिति की बैठक में शामिल होने के लिए शनिवार को कोझिकोड पहुंचे। पीएम मोदी के इस दौरे की खास बात ये रही उनके साथ ही उनका पूरा प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओः भी कोझिकोड पहुंचा। यानी पीएम मोदी इस दौरान भी प्रधानमंत्री के रूप में अपने जिम्मेदारियों निभाते रहे। खबरों के अनुसार इस अस्थाई पीएमओ के कंट्रोलरूम को कोझिकोड में बनाने के लिए आधे फुटबाल मैदान (करीब 24 हजार वर्गफीट) जितनी जगह की जरूरत पड़ी।

पीएम के दो दिवसीय केरल दौरे में सरकारी की ‘एकीकृत’ राजनीतिक कमांड भी कोझिकोड में मौजूद रही। कैबिनेट कमेटी ऑन सिक्योरिटी के तीन सदस्य राजनाथ सिंह, सुषमा स्वराज और अरुण जेटली शुक्रवार को ही कोझिकोड पहुंचे। वहीं इस कमेटी के दो अन्य सदस्य पीएम मोदी और रक्षा मंत्री मनोहर पर्रीकर शनिवार को वहां पहुंचे। पीएम ने शनिवार को केरल आने से पहले भी तीनों सेनाओं के प्रमुखों से मुलाकात की थी।

HOT DEALS
  • Lenovo K8 Plus 32GB Venom Black
    ₹ 9597 MRP ₹ 10999 -13%
    ₹480 Cashback
  • Moto C Plus 16 GB 2 GB Starry Black
    ₹ 7095 MRP ₹ 7999 -11%
    ₹0 Cashback

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उरी हमले के बाद पहली सार्वजनिक रैली में कहा कि पाकिस्‍तान दुनिया में आतंकवाद एक्‍सपोर्ट करता है। वह एशिया को रक्‍तरंजित बनाने में लगा हुआ। पीएम मोदी ने कहा कि उरी में शहीद हुए 18 जवानों का बदला लिया जाएगा। साथ ही पाक को चुनौती दी कि उसमें हिम्‍मत है तो वह गरीबी, बेरोजगारी, अशिक्षा के मुद्दे पर मुकाबला करके दिखाए। पीएम मोदी ने पाकिस्‍तान की जनता से कहा कि वह अपने नेताओं से पूछे कि पीओके, गिलगित, सिंध और बलूचिस्‍तान उसके पास पहले से ही हैं, उन्‍हें वह क्‍यों संभाल नहीं पा रहा है। क्‍यों पूर्वी बंगाल उससे अलग हो गया। कश्‍मीर की बात करके उन्‍हें गुमराह किया जा रहा है। पाकिस्‍तानी अवाम अपने नेताओं से सवाल करें। पाकिस्‍तान की जनता को पूछना चाहिए कि भारत और पाकिस्‍तान एक साथ आजाद हुए थे लेकिन भारत सॉफ्टवेयर एक्‍सपोर्ट करता है और पाकिस्‍तान आतंकवाद।

पीएम ने कहा कि पाकिस्‍तान के हुक्‍मरान आतंकियों के लिखे भाषण पढ़ते हैं। उन्‍होंने कहा कि पाकिस्‍तान को पूरी दुनिया में अलग-थलग करने में भारत सफल रहा है। पूरी दुनिया में उसे अकेला कर दिया गया है। उन्‍होंने कहा कि पिछले कुछ महीनों में 17 बार पाकिस्‍तान की ओर से आतंक भेजा गया। सुरक्षाबलों ने 110 आतंकियों को मार गिराया है। गौरतलब है कि उरी हमले में 18 जवान शहीद हुए थे। इस हमले के बाद से देश में पाकिस्‍तान पर हमले की मांग बुलंद की जा रही है।

Read Also: पाकिस्तानी नेता आतंकियों की इबारत को पढ़ते हैं, कश्मीर राग अलापते रहते हैं: नरेंद्र मोदी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App