ताज़ा खबर
 

अदार पूनावाला को झटका- WHO ने ख़ारिज की सीरम इंडिया की अर्ज़ी

डीसीजीआई ने एसआईआई को फरवरी में एक पत्र में कहा कि उसे कई खुराक वाली शीशी (10 खुराकें- पांच एमएल) में कोविशील्ड टीके के उपयोग का समय छह महीने से नौ महीना विस्तार करने पर कोई आपत्ति नहीं है।

Author Edited By Sanjay Dubey नई दिल्ली | April 8, 2021 11:08 PM
Covishield, Covid-19, SII22 फरवरी को ब्रिटेन के ड्रग रेगुलेटर के एक अपडेट के अनुसार, एस्ट्राजेनेका सीओवीआईडी -19 वैक्सीन की शेल्फ लाइफ छह महीने है। (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस- अभिषेक साहा)

डब्ल्यूएचओ ने अपर्याप्त आंकड़े का हवाला देते हुए सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) के ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका के कोविड-19 टीके की उपयोग समय सीमा को छह महीने से विस्तारित कर नौ महीना करने के प्रस्ताव को खारिज कर दिया है। सूत्रों ने बताया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) मामले पर चर्चा के लिए भारत के औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) के साथ बैठक भी करना चाहता है।

भारत के औषधि नियामक ने कोविशील्ड टीके के उपयोग का समय निर्माण की तारीख से छह महीने को बढ़ाकर नौ महीने कर दिया है।पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) को हालिया पत्र में डब्ल्यूएचओ ने कंपनी से पर्याप्त घोल के साथ खुराकें बनाने को कहा है ताकि उपयोग समय के दौरान इसका असर 2.5 ७ 108 आईएफयू प्रति खुराक बना रहे।

डीसीजीआई ने एसआईआई को फरवरी में एक पत्र में कहा कि उसे कई खुराक वाली शीशी (10 खुराकें- पांच एमएल) में कोविशील्ड टीके के उपयोग का समय छह महीने से नौ महीना विस्तार करने पर कोई आपत्ति नहीं है। डीसीजीआई के फैसले से टीके की बर्बादी रोकने में स्वास्थ्य प्राधिकारों को मदद मिलेगी।

ब्रिटेन के औषधि नियामक द्वारा 22 फरवरी को अद्यतन सूचना के मुताबिक एस्ट्राजेनेका के कोविड-19 टीके की ‘शेल्फलाइफ’ छह महीने है। बहरहाल, यूरोपीय संघ की स्वास्थ्य एजेंसी द्वारा टीका और खून के दुर्लभ थक्के के बीच “संभावित जुड़ाव” से टीका को लेकर चिंता पैदा हो गई है लेकिन कहा गया है संक्रमण के खतरे को घटाने के लिए टीके के फायदे ज्यादा हैं।

किसी भी वैक्सीन की मैन्यूफैक्चरिंग से लेकर उपयोग किए जाने की आखिरी तिथि को शेल्फ लाइफ कहा जाता है। सामान्य शब्दों में इसे वैक्सीन के एक्सपायरी डेट से जोड़कर देखा जाता है। इस अवधि के बाद वैक्सीन का उपयोग करना वर्जित होता है। डब्ल्यूएचओ ने इस मामले पर चर्चा करने के लिए ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) के साथ बैठक की भी मांग की है।

Next Stories
1 किसानों पर एक और मार: IFFCO ने 58% तक महंगी की खाद, डीजल के रेट से पहले से परेशान
2 बेलगाम हुआ कोरोनाः एक दिन में आए अब तक के सबसे ज्यादा मामले, केरल के सीएम भी जद में, नोएडा, गाजियाबाद में 17 तक रात का कर्फ्यू
3 आशुतोष ने एंकर को दी मोदी से सवाल पूछने की चुनौती तो मिला जवाब- आपको तो नेता ने मार दिया था थप्पड़
ये पढ़ा क्या?
X