ताज़ा खबर
 

कौन हैं खुशबू सुंदर, जिन्होंने BJP में जाने के लिए छोड़ दी Congress?

अभिनेत्री खुशबू सुंदर ने 2014 में डीएमके छोड़ कांग्रेस का दामन थामा था। पार्टी ने उन्हें एआईसीसी प्रवक्ता के रूप में तत्काल प्रभाव से हटाने के निर्देश दिये हैं।

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: October 12, 2020 3:01 PM
khushbu sundar congress bjp tamilnadu electionअभिनेत्री से राजनेता बनी लोकप्रिय साउथ एक्‍ट्रेस और तमिलनाडु की नेता खुशबू सुंदर। (instagram)

साउथ की लोकप्रिय अभिनेत्री खुशबू सुंदर सोमवार को भाजपा में शामिल हो गई हैं। पार्टी में शामिल होने के बाद उन्होंने दिल्ली में राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा से मुलाकात की। उन्होंने सोमवार को ही कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद पार्टी ने उन्हें तत्काल प्रभाव से राष्ट्रीय प्रवक्ता के पद से हटा दिया था। उन्होंने 200 से ज्यादा दक्षिण भारतीय और बॉलीवुड फिल्मों में काम किया है।

29 सितंबर 1970 को जन्मी खुशबू ने हिंदी फिल्म ‘द बर्निंग ट्रेन’ (1980) से एक बाल कलाकार के रूप में अपना करियर शुरू किया था। वह बाल कलाकार के रूप में कई हिंदी फिल्मों का हिस्सा रहीं। खुशबू ‘नसीब’, ‘लावारिस’, ‘कालिया’, ‘दर्द का रिश्ता’ और बेमिसाल जैसी फिल्मों का हिस्सा थीं। बाद में 1985 में, उन्होंने ‘जानू’ में जैकी श्रॉफ के साथ अभिनय किया। उन्होंने 1990 में ‘दीवाना मुझ सा नहीं’ में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, जिसमें आमिर खान और माधुरी दीक्षित ने अभिनय किया था।

हालांकि, खुशबू ने मुख्य रूप से तमिल फिल्मों में अभिनय किया और खूब नाम कमाया। उन्होंने मलयालम, कन्नड़ और तेलुगु फिल्मों में भी काम किया है। 50 वर्षीय ने अपने करियर में 200 से अधिक फिल्मों में अभिनय किया है। अपने करियर के दौरान, उन्होंने रजनीकांत, कमल हसन, चिरंजीवी और जैसे कई दिग्गज अभिनेताओं के साथ काम किया है। दक्षिण में उनकी लोकप्रियता ऐसी है कि उनके प्रशंसकों ने उन्हें एक मंदिर समर्पित किया गया है।

दक्षिण भारतीय फिल्मों की अभिनेत्री ने 2014 में कांग्रेस का दामन थामते हुए कहा था कि ‘आखिरकार मैं अपने घर आ गई हूं। कांग्रेस एकमात्र ऐसी पार्टी है जो भारत के लोगों के लिए अच्छा और देश को एकजुट कर सकती है।’ हालांकि कांग्रेस ने 2014 में उन्हें न तो लोकसभा का टिकट दिया और न ही उन्हें राज्यसभा का सदस्य बनाया था।

कांग्रेस अध्यक्ष को लिखे पत्र में उन्होंने कहा, ‘कुछ तत्व पार्टी के भीतर उच्च स्तर पर बैठे हैं, जिनका जमीनी हकीकत या सार्वजनिक मान्यता से कोई जुड़ाव नहीं है, वे आदेश दे रहे हैं।’ कांग्रेस सूत्रों का दावा है कि 2019 के लोकसभा चुनाव में टिकट नहीं मिलने के बाद से वह नाराज चल रही थीं। हाल के दिनों में वह कुछ मुद्दों पर कांग्रेस के आधिकारिक रुख से अलग राय जाहिर कर रही थीं। कुछ महीने पहले उन्होंने पार्टी के रुख से इतर नयी शिक्षा नीति का समर्थन किया था।

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के मीडिया प्रभारी प्रणव झा ने एक बयान में कहा, “खुशबू सुंदर को कांग्रेस प्रवक्ता के पद से तत्काल प्रभाव से हटाया जाता है।” अभिनेत्री ने कहा कि लंबे समय तक व्यापक “विचार प्रक्रिया” के बाद उन्होंने कांग्रेस से अपने रिश्ते खत्म करने का फैसला किया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 COVID-19 फोन, बैंक नोट पर 28 दिन तक रह सकता है एक्टिव- स्टडी में दावा
2 हाथरस कांडः गैंगरेप, हत्या और SC/ST ऐक्ट के तहत CBI ने दर्ज किया केस, पर वेबसाइट से हटाई FIR
3 कोविड-19 से देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या लगातार चौथे दिन नौ लाख से कम रही
यह पढ़ा क्या?
X