scorecardresearch

कौन हैं दत्तात्रेय होसबोले, जो बने RSS के नए ‘सरकार्यवाह’?

होसबोले, भैयाजी जोशी की जगह लेंगे। 73 वर्षीय जोशी 2009 में इस पद के लिए चुने गए थे, जबकि वह अपने चार कार्यकाल (हर तीन साल का एक कार्यकाल) पूरे कर चुके हैं।

Dattatreya Hosable, RSS, India News
राजस्थान की राजधानी जयपुर में एक कार्यक्रम के दौरान दत्तात्रेय होसबोले। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटोः ओइनम आनंद)

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) में दत्तात्रेय होसबोले नंबर-2 बना दिए गए हैं। शनिवार को उन्हें RSS का नया सरकार्यवाह चुना गया। यह फैसला कर्नाटक के बेंगलुरू में हुई अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा में हुआ। RSS की राष्ट्रीय टीम की बात की जाए तो सरसंघचालक-मोहन भागवत, सरकार्यवाह – दत्तात्रेय होसबोले हैं। वहीं, सह-सरकार्यवाह डॉ मनमोहन वैद्य, कृष्ण गोपाल, सी आर मुकुंद, अरुण कुमार और राम दत्त चक्रधर हैं। इसके अलावा शारीरिक प्रधान सुनील कुलकर्णी है। सह शारीरिक प्रधान जगदीश प्रसाद हैं। बौधिक प्रधान स्वांत रंजन हैं, सह बौधिक प्रधान सुनील भाई मेहता हैं, सेवा प्रधान पराग अभ्यंकर, सह सेवा प्रधान राजकुमार मथले हैं।

इसके अलावा संपर्क प्रमुख रामलाल, सह संपर्क प्रमुख रमेश पप्पा और सुनील देशपांडे हैं। प्रचार प्रमुख सुनील अम्बेकर हैं, सह प्रचार प्रमुख नरेंद्र ठाकुर और आलोक कुमार हैं।  संघ की ओर से इस बात की घोषणा टि्वटर पर की गई। हैंडल से कहा गया, “संघ की अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा में सरकार्यवाह पद के लिए श्री दत्तात्रेय होसबाले जी निर्वाचित हुए। वे 2009 से सह सरकार्यवाह का दायित्व निर्वहन कर रहे थे।” यह सभा महाराष्ट्र के नागपुर स्थित संघ मुख्यालय के बजाय दूसरे स्थान पर हुई। चूंकि, सूबे में कोरोना के मामले तेजी से बढ़े हैं व उनके फैलाव के खतरे की आशंका थी। ऐसे में आरएसएस का यह सालाना कॉन्क्लेव बेंगलुरू में हुआ। बता दें कि एबीपीएस की वार्षिक बैठक अलग-अलग स्थानों पर होती है लेकिन हर तीसरे वर्ष यह नागपुर स्थित आरएसएस के मुख्यालय में होती है जहां सरकार्यवाह का चुनाव होता है।

होसबोले करीब 65 साल के हैं। वह कर्नाटक में संघ कार्यकर्ताओं के परिवार से ताल्लुक रखते हैं। शिवमोगा के सोराब में जन्में होसबोले अंग्रेजी साहित्य में परास्नातक हैं।

शुरू में वह अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् (एबीवीपी) के साथ जुड़े थे। फिर उन्होंने साल 1968 में आरएसएस ज्वॉइन कर ली थी, जबकि 10 साल बाद यानी 1978 में वह संगठन में पूर्णकालिक संगठनकर्ता बन गए थे। वर्ष 2004 में वह संघ के अखिल भारतीय सह-बौद्धिक प्रमुख बनाए गए थे।

आपातकाल के दौरान दत्तात्रेय गिरफ्तार भी किए गए थे। उन्हें तब Maintenance of Internal Security Act (MISA) के तहत पकड़ा गया था। वह इस दौरान करीब 16 महीनों तक कैद में रहे थे।

होसबोले, भैयाजी जोशी की जगह लेंगे। 73 वर्षीय जोशी 2009 में इस पद के लिए चुने गए थे, जबकि वह अपने चार कार्यकाल (हर तीन साल का एक कार्यकाल) पूरे कर चुके हैं। बताया जा रहा है कि स्वास्थ्य संबंधी कारणों के चलते जोशी को जिम्मेदारी से दूर रखा गया है। बता दें कि सरकार्यवाह पद को संघ में सरसंघचालक के बाद दूसरे नंबर का पद माना जाता है। वर्तमान में मोहन भागवत सरसंघचालक हैं।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X