ताज़ा खबर
 

ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड से पढ़ी हैं कांग्रेस की ट्रांसजेंडर महासचिव, कई बड़े मीडिया संस्थानों में रह चुकी हैं पत्रकार

अप्सरा रेड्डी का नाता बीजेपी से भी रहा, लेकिन जल्द ही उन्होंने अपना रास्ता अलग कर लिया। वह जयललिता की पार्टी AIADMK की प्रवक्ता भी रहीं। लेकिन, जयललिता के निधन के बाद उन्होंने पार्टी छोड़ दी।

कांग्रेस की ट्रांसजेंडर महासचिव ने इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया से पत्रकारिता में पढ़ाई की है. कई बड़े मीडिया संस्थानों के साथ काम करने के बाद उन्होंने राजनीति की तरफ रुख किया। कुछ वक्त के लिए उनका जुड़ाव बीजेपी के साथ भी रहा. (फोटो सोर्स: ANI ट्वीटर हैंडल)

कांग्रेस ने देश की मशहूर ट्रांसजेंडर पॉलिटकल एक्टिविस्ट और पत्रकार अप्सरा रेड्डी को अपनी पार्टी की महिला इकाई का राष्ट्रीय महासचिव बनाया है। मंगलवार को कांग्रेस ने ट्वीट के जरिए अप्सरा के नियुक्ति की जानकारी साझा की। अप्सरा कांग्रेस की पहली ट्रांसडेंडर महासचिव हैं। हालांकि, इससे पहले सार्वजनिक जीवन में उनकी प्रसिद्धी काफी रही है। कांग्रेस में शामिल होने से पहले अप्सरा कई स्तर पर राजनीतिक गतिविधियों में सक्रिय रही हैं। थोड़े वक्त के लिए उनका नाता बीजेपी से भी रहा, लेकिन जल्द ही उन्होंने अपना रास्ता अलग कर लिया। वह जयललिता की पार्टी AIADMK की प्रवक्ता भी रहीं। लेकिन, जयललिता के निधन के बाद उन्होंने पार्टी छोड़ दी। उन्होंने इसके लिए पार्टी के भीतर चल रहे टकराव को कारण बताया।

शुरुआती जीवन और शिक्षा: अप्सरा रेड्डी आंध्र प्रदेश के नेल्लोर जिले से आती हैं। उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में रहकर पूरी की। इसके बाद उनका रूझान पत्रकारिता की तरफ हुआ। पत्रकारिता के अध्ययन के लिए उन्होंने ऑस्ट्रेलिया का रुख किया और मोनाश यूनिवर्सिटी से ग्रैजुएट हुईं। कॉलेज के शुरुआती दौर से ही वह सामाजिक कार्यों में सक्रिय रहीं। उन्होंने लंदन से अपना पोस्ट ग्रैजुएशन की पढ़ाई की और साथ ही वहां के मीडिया संस्थानों में काम भी किया। पत्रकारिता में काम करने का साथ-साथ वह ट्रांसजेंडर अधिकारों को लेकर भी सक्रिय रहीं।

पत्रकार के तौर पर जीवन: अप्सरा रेड्डी कई बड़े मीडिया संस्थानों में बतौर पत्रकार काम भी किया। साथ ही वह कुछ वक्त के लिए ऑस्ट्रेलिया में भारतीय दूतावास के साथ मीडिया एडवाइजर के रूप में भी काम करती रहीं। उन्होंने बीबीसी वर्ल्ड सर्विस, द हिंदू, कॉमनवेल्थ सेक्रेटेरिएट, न्यू इंडियन एक्सप्रेस, डेक्कन क्रॉनिकल जैसे मीडिया संस्थानों में काम किया। पत्रकार रहते हुए उन्होंने कई राजनीतिक और फिल्म जगत से जुड़ी हस्तियों का इंटरव्यू भी लिया। फॉर्मूला वन रेसर माइकल शुमाकर से लेकर संगीतकार एआर रहमान और ऑस्ट्रेलिया के पूर्व पीएम जॉन हॉवर्ड जैसी शख्सियतों का उन्होंने साक्षात्कार किया। तमिलनाडु में यूनिसेफ के साथ मिलकर उन्होंने कई समाजिक कार्यों में अपना योगदान दिया। सूनामी के दौरान अप्सरा ने श्रीलंका और मलेशिया में रिपोर्टिंग भी की है।

लोगों की बातों पर नहीं काम पर रहा फोकस: कांग्रेस का राष्ट्रीय महासचिव बनाए जाने पर अप्सरा रेड्डी ने खुशी जाहिर की। उन्होंने कहा कि ट्रांसजेंडर महिलाएं उनसे कहती थी कि तुम यहां अपनी जिंदगी नहीं बना पाओगी। तुम्हें कहीं और चले जाना चाहिए। लेकिन भारत की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस ने मेरा स्वागत किया है यह भावुक और सुखद महसूस कराने वाला क्षण हैं। उन्होंने कहा कि जिदंगी में उन्होंने काफी दुश्वारियां झेली हैं। लोगों ने उनका मजाक उड़ाया है। लेकिन, मजबूत मनासिकता के साथ सिर्फ काम पर ही ध्यान दिया और दिमाग को शांत रखा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App