ताज़ा खबर
 

कौन दे सकता है मोदी को चुनौती? पूछा सवाल तो शत्रुघ्न बोले- सीधी बात में हो रही टेढ़ी बात

शत्रुघ्न सिन्हा से जब पूछा गया कि भविष्य में प्रधानमंत्री मोदी को कौन चुनौती दे सकता है तो उन्होंने गोलमोल जवाब देते हुए कहा कि सीधी बात में टेढ़ी बात हो रही है।

भाजपा से कांग्रेस में शामिल हुए अभिनेता और नेता शत्रुघ्न सिन्हा अकसर बीजेपी की सरकार को वन मैन आर्मी और टू मैन शो कहा करते हैं। भाजपा में रहते हुए भी वह सरकार के कई फैसलों का विरोध करते नज़र आते थे। आजतक चैनल पर जब वह सीधी बात कार्यक्रम में पहुंचे तो पत्रकार प्रभु चावला ने उनसे भाजपा और कांग्रेस पर कई सवाल पूछे। इसी बीच उन्होंने यह भी पूछ लिया कि भविष्य में क्या कोई नेता पीएम मोदी को चुनौती दे सकता है। इसपर शत्रुघ्न सिन्हा जनता की बात करने लगे।

सिन्हा ने कहा, ‘मैं सिचुएशन को देखता हूं हमेशा चैलेंज करते हुए।’ उन्होंने पीएम मोदी को मित्र बताते हुए कहा, ‘जब आप कहते हैं कि कोई नेता उनके विरुद्ध दिखता है तो पहली बात यह कि दिखाया नहीं जाता है। हम शुरू से सुनते आए हैं, नेहरू के बाद कौन, लाल बहादुर के बाद कौन। लेकिन बाद में इंदिरा गांधी आईं और उनके बराबर स्टार प्रधानमंत्री कोई नहीं हुआ।’

अरबों की संपत्ति के मालिक हैं शत्रुघ्न सिन्हा, अमिताभ के ‘जलसा’ से भी महंगा है उनका यह बंगला

बीच में टोकते हुए प्रभु ने कहा, आप जवाब नहीं दे रहे कि कौन सा नेता चुनौती देगा? इसपर शत्रुघ्न कहने लगे, नेता का नाम हम नहीं बताएंगे। यह तो जनता बता देती है। विपक्ष दिखता नहीं है या दिखाया नहीं जाता। सत्ताधारी पार्टी का मीडिया पर भी कंट्रोल होता है।

चावला ने उनसे फिर कहा कि आपने कहा था, नीतीश कुमार भी प्रधानमंत्री पद के अच्छे कैंडिडेट हैं। क्या आपके नेता राहुल गांधी प्रधानमंत्री के कैंडिडेट हैं या फिर कोई और जैसे ममता बनर्जी भी बन सकती हैं? इसपर शत्रुघ्न कहने लगे, प्रधानमंत्री तो कोई भी बन सकता है, आप भी बन सकते हैं। बशर्ते आपके पास संख्याबल हो।

‘काश अमर सिंह मुझे भी दे देते पैसे..’, जब शत्रुघ्न सिन्हा ने सबके सामने कसा था अमिताभ पर तंज

प्रभु चावला कहने लगे पहले आपकी पार्टी तो आपका नाम ले, तभी तो बनेंगे प्रधानमंत्री। इसपर शत्रु ने कहा कि ‘इसीलिए मैंने आपका भी नाम लिया। अब सीधी बात में फिर टेढ़ी बात हो रही है।’ बता दें कि शत्रुघ्न सिन्हा साल 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा को छोड़ कांग्रेस में शामिल हो गए थे। इसके बाद उन्हें कांग्रेस ने पटना साहिब से टिकट भी दिया था लेकिन वह जीत नहीं दर्ज कर सके।

जब आडवाणी के कारण शत्रुघ्न सिन्हा ने राजेश खन्ना को कर दिया था नाराज, मरते दम तक रहे खफा

Next Stories
1 पेट्रोल कीमतों पर सवाल तो कोरोना संकट पर बोलने लगे भाजपा प्रवक्ता, गौरव वल्लभ ने बताए आंकड़े
2 पीएम मोदी के क़रीबी रहे पूर्व IAS अधिकारी को यूपी बीजेपी में बड़ी जिम्मेदारी
3 राकेश टिकैत बोले, उत्तर प्रदेश में इनको निपटाएंगे, ये नहीं तो 2024 में दूसरी सरकार वापस लेगी कानून
ये पढ़ा क्या?
X