ताज़ा खबर
 

टि्वंकल खन्ना ने पुरुष राजनेताओं को दिया एक दिन के लिए सैनिटरी नैपकिन यूज करने का चैलेंज

अभिनेत्री ने पैड्स पर ज्यादा कर लगाने का किया विरोध।

Author नई दिल्ली | December 13, 2017 09:31 am
मासिक धर्म के प्रति जागरुकता लाने के लिए देश भर के कई गैरसराकरी संस्थाआें द्वारा अभियान चलाया जाता है। (फाइल फोटो)

बॉलीवुड अभिनेत्री टि्वंकल खन्ना ने पुरुष राजनेताओं को ऐसी चुनौती दे डाली कि वे शायद ही इसे कभी पूरा कर सकें। टि्वंकल खन्ना ने एक कार्यक्रम में पुरुष नेताओं को एक दिन के लिए सैनिटरी नैपकिन का इस्तेमाल करने का चैलेंज दिया है। उन्होंने मासिक धर्म पर आयोजित एक कार्यक्रम में यह बात कही। इसमें ‘पैड मैन’ के तौर पर प्रसिद्ध अरुणाचलम मुरुगंथम भी मौजूद थे। कार्यक्रम में मासिक धर्म को लेकर समाज में मौजूद भ्रांतियों और उस पर बातचीत को लेकर लोगों के बीच मौजूद हिचकिचाहट पर चर्चा की गई। इसमें सैनिटरी नैपकिन के इस्तेमाल पर भी खुलकर चर्चा की गई थी।

टि्वंकल खन्ना ने बताया कि आमतौर पर मासिक धर्म के वक्त महिलाओं के साथ आम इंसान की तरह व्यवहार नहीं किया जाता है। अभिनेत्री और मुरुगंथम ने इसको लेकर जारी भ्रांति, सैनिटरी नैपकिन के इस्तेमाल और जीएसटी के तहत नैपकिन को कर के दायरे में लाने पर भी चर्चा की। दोनों ने इसे टैक्स के दायरे में लाने का विरोध किया। इस दौरान टि्वंकल खन्ना ने पुरुष राजनेताओं को एक दिन तक के लिए इसका इस्तेमाल करने की चुनौती दे डाली। अभिनेत्री ने कहा कि अगर राजनेता सिर्फ एक दिन के लिए भी सैनिटरी नैपकिन का प्रयोग कर लेंगे तो पैड हर जगह आसानी से उपलब्ध होने लगेगा। कई हलकों से पैड को कर के दायरे से बाहर रखने की मांग की गई है। इन लोगों का कहना है कि ऐसा होने पर ज्यादा से ज्यादा महिलाएं मासिक धर्म के दौरान इसका इस्तेमाल कर सकेंगे। इस चर्चा में शामिल मुरुगंथम ने भी कीमत को कम करने की हिमायत की।

सैनिटरी नैपकिन बनाने के लिए मुरुगंथम ने एक मशीन विकसित की है। इसकी मदद से तुलनात्मक रूप से बेहद कम कीमत में पैड बनाना संभव है। पद्म पुरस्कार से सम्मानित मुरुगंथम ने बताया कि मासिक धर्म के समय महिलाओं को होने वाली दिक्कतों का पता लगाने के लिए उन्होंने कई दिनों तक खुद इसका इस्तेमाल किया था। उनके मुताबिक, इससे रूबरू होने के बाद उनके मन में महिलाओं को कम कीमत में सैनिटरी नैपकिन मुहैया कराने का विचार आया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App