ताज़ा खबर
 

जब नरेंद्र मोदी ने बताया था क्यों नहीं पहनते मुस्लिम टोपी?

Narendra Modi Birthday: नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री बनने से एक महीने पहले बेरोजगारी, किसानों की जमीन, सोशल मीडिया और सांप्रदायिक तुष्टिकरण पर दिए थे ये जवाब।

narendra modiप्रधानमंत्री ने कहा कि 31 अक्तूबर को सरदार पटेल की जयंती के अवसर पर देशभर में ‘रन फॉर यूनिटी’ का आयोजन किया जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का रविवार को जन्मदिन है। 17 सितंबर 1950 में गुजरात के वडानगर में जन्मे मोदी मई 2014 में वो देश के 14वें प्रधानमंत्री बने। वो आजादी के बाद जन्मे देश के पहले प्रधानमंत्री हैं। उनकी सरकार के साढ़े तीन साल हो चुके हैं। अगला आम चुनाव 2019 में प्रस्तावित है। नरेंद्र मोदी पीएम बनने से एक महीने पहले इंडिया टीवी के शो आप की अदालत में आए थे। उस समय वो गुजरात के मुख्यमंत्री और बीजेपी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार थे। उस इंटरव्यू में उन्होंने बहुत से ऐसे सवालों का जवाब दिया जो आज भी मौजूद हैं। आइए उनके जन्मदिन पर देखते हैं कि पीएम बनने से पहले नरेंद्र मोदी ने उन सवालों का क्या जवाब दिया।

पत्रकार रजत शर्मा ने नरेंद्र मोदी से पूछा, “सोनिया गांधी ने कहा-  देश के कोने कोने में इश्तिहारों के जाल बिछाकर एक आदमी को हर मर्ज की दवा और देश के लिए चमत्कारी नेता बनाकर पेश किया जा रहा है?” इस पर नरेंद्र मोदी ने जवाब दिया, “आजकल दिल्ली पर ब्लैकमैजिक वालों का कब्जा है। ब्लैकमैजिक हुआ है। सब गायब हो गया है। जिन्होंने नौजवानों को रोजगार गायब कर दिये, जिन्होंने देश का कोयला गायब कर दिया, बिजली गायब कर दी, तिजोरी गायब कर दी तो ब्लैकमैजिक से अच्छी है ये जादूगरी।”

शो में नरेंद्र मोदी से पूछा गया कि सोनिया गांधी ने कहा है कि “नरेंद्र मोदी ऐसा माहौल बना रहे हैं कि इनसे बड़ा देशभक्त कोई है ही नहीं। देशभक्ति के नकली नारे लगाकर कुर्सी हासिल करना चाहते हैं।” इस पर नरेंद्र मोदी ने कहा था, “इस देश के सवा सौ करोड़ देशवासी देशभक्त हैं। किसी की देशभक्ति किसी से नीचे नहीं होती, किसी से ऊपर नहीं होती। इसलिए न मैं किसी की देशभक्ति पर शक नहीं करता हूं और न ही मैं महान देशभक्त होने का दावा करता हूं।”

शो में पूछा गया था, “राहुल गांधी कहते हैं कि बीजेपी कहती है देश को एक चौकीदार चाहिए, मैं कहता हूं देश को करोड़ों चौकीदार चाहिए, मैं कहता हूं एक चौकीदार से क्या होगा?” इस पर नरेंद्र मोदी ने कहा था, “अच्छा है वो मेरे भाषण ध्यान से सुनते हैं। उन्हें मालूम है कि अगर सवा सौ करोड़ चौकीदार होंगे तो कहीं न कहीं अपना काम चल जाएगा, एक चौकीदार होगा तो बड़ा मुश्किल हो जाएगा। मुझे चिंता ये है कि जब सवा सौ करोड़ चौकीदार होगा तो जिनपर आदर्श घोटाले का आरोप है, जिन्होंने कारगिल की विधवाओं के मकान ले लिए वो भी चौकीदार होंगे क्या, जिन्होंने राजस्थान और हरियाणा के किसानों की जमीन हड़प ली, क्या वो भी इस सवा सौ करोड़ में चौकीदार होंगे क्या? अगर ये है तो लगता है कि वो दूध की रखवाली बिल्ली को दे देंगे।”

modi cabinet reshuffle, cabinet rejig, narendra modi council of ministers, congress attacks prime minister narendra modi,demonetization, hindi news, jansatta प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी
(फोटो-पीटीआई)

“आप की अदालत” में पूछा गया था, “जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कहा- नरेंद्र मोदी पंजाब गये तो वहां सरदारों की दस्तार कबूल की, अरुणाचल प्रदेश गये तो उनकी टोपी कबूल की, असम गये तो उनकी भेषभूषा कबूल की लेकिन जब इमाम साहब ने टोपी पहनाने की कोशिश की तो लौटा दिया, इनकार कर दिया?” इस पर नरेंद्र मोदी ने कहा, “अगर टोपी पहनने से ही कोई एकता का प्रतीक बन जाता तो…मैंने अब तक गांधीजी को अब तक कोई ऐसी टोपी पहने देखा नहीं है, मैंने सरदार वल्लभ भाई पटेल को इस प्रकार की टोपी पहनकर फोटो निकाला कभी देखा नहीं है, मैंने पंडित नेहरू को भी कभी इस प्रकार की टोपी पहने हुए देखा नहीं है…तो ये एक भारत की राजनीति में एक विकृति आई है, विकृति आई है कि अपीजमेंट (तुष्टिकरण) के लिए कुछ भी करो, मेरा काम है सब संप्रदाय का सम्मान करना, सब परंपरा का सम्मान करना पर मेरी जो परंपरा है उसको मुझे स्वीकार करना…मैं मेरी परंपराओं को लेकर जीता हूँ, हरेक की परंपरा का सम्मान करता हूं, इसलिए मैं ये टोपी पहनकर, फोटो निकाल कर के, लोगों की आँख में धूल झोंकने का पाप मैं नहीं कर सकता। लेकिन कोई अगर किसी की टोपी उछालता है तो उसको कड़ी से कड़ी सजा करने का मैं मन रखता हूँ।”

“आप की अदालत” में नरेंद्र मोदी ने सोशल मीडिया की खुलकर तारीफ की। उन्होंने कहा था, “सोशल मीडिया न होता तो देश की क्रिएटिविटी का, देश की आवाज का पता ही नहीं चलता।” नरेंद्र मोदी ने उस इंटरव्यू में अपने प्रचार पर 10 हजार करोड़ रुपये खर्च करने की खबरों से इनकार किया था। नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस सरकार को चुनौती भी दी थी कि अगर इन आरोपों में दम हो तो वो प्रवर्तन निदेशालय और चुनाव आयोग से इस बात की शिकायत करें और अपनी पूरी ताकत लगाकर जांच करा लें और मेरा कच्चा चिट्ठा सामने ला दें। शो में नरेंद्र मोदी ने पीएम बनने के बारे में कहा कि वो पीएम बनने का सपना नहीं देखते। उन्होंने कहा था, “नौजवानों से कहता हूं कि कुछ बनने का नहीं कुछ करने का सपना देखें।”

देखें नरेंद्र मोदी का पीएम बनने से पहले का इंटरव्यू-

देखें मुस्लिम टोपी पहनने पर नरेंद्र मोदी ने क्या कहा था-

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 मोदी सरकार ने एक कंपनी को फायदा पहुंचाने के लिए बदल दिए पर्यावरण नियम?
2 नरेंद्र मोदी का जन्मदिन: जानिए- दिनभर का कार्यक्रम, मां से मिलने के बाद क्या-क्या करेंगे पीएम
3 57 मुस्लिम देशों के संगठन OIC को भारत की फटकार- कश्मीर के मसले को यूएन में उठाने का उसे नहीं है अधिकार
ये पढ़ा क्या?
X