ताज़ा खबर
 

…जब बीच समंदर में पलटी पाकिस्तान की नाव तो, इंडियन कोस्ट गार्ड ने बचाई पाकिस्तानी कमांडरों की बचाई जान

दो पाकिस्तानी अधिकारियों को उन भारतीय मछुआरों ने बचाया जो उस वक्त पीएमएसए की हिरासत में थे ।

Author April 11, 2017 7:19 PM
मुंबई में तैनात भारतीय तटरक्षक बल का जहाज H-189 (Source-EXPRESS FILE PHOTO)

भारतीय जलसीमा में अवैध रूप से दाखिल हुए पाकिस्तान मैरिटाइम सिक्यूरिटी एजेंसी (PMCA) के कर्मियों द्वारा पकड़े गए भारतीय मछुआरों ने बीते रविवार (9 अप्रैल) को अपने सताने वालों की जान बचाने से भी परहेज नहीं किया । ये घटना गुजरात के समुद्र तट की है। मछुआरों ने पीएमएसए कर्मियों की जान उस वक्त बचाई जब उनकी एक पाकिस्तानी नौका पलट गई । सूत्रों ने बताया कि इस घटना में पकड़कर कराची ले जाए जा रहे भारतीय मछुआरों ने पीएमएसए के दो अधिकारियों की जान बचाई । पीएमएसए कर्मियों की जान बचाने की नौबत तब आई जब एक छोटी पाकिस्तानी नौका एक भारतीय नौका से टकरा गई और भारतीय जलसीमा में पलट गई । इस घटना में 4 पाकिस्तानी कमांडर समुद्र में डूब गये, इनमें से 3 की मौत हो गई। भारतीय तटरक्षक बल इस घटना में डूब गए चार पाकिस्तानी कर्मियों में से तीन के शव बरामद करने में सफल रहा और उन्हें पीएमएसए को लौटा दिया । इस बीच, राष्ट्रीय मत्स्यकर्मी मंच के सचिव मनीष लोधारी ने कहा कि पाकिस्तानी अधिकारियों की जान बचाने पर सकारात्मक भावना दिखाते हुए पीएमएसए ने कल रात सात नौकाएं और करीब 60 मछुआरों को छोड़ दिया ।

घटना से परिचित एक सूत्र ने बताया कि यह भारतीय मछुआरों को पकड़ने की कोशिश थी, लेकिन 10 नॉटिकल मील तक भारतीय जलसीमा में घुस आए पीएमएसए के लिए यह घटना एक हादसे में तब्दील हो गई । सूत्र ने बताया, ‘‘जब पीएमएसए ने समुद्र में उन्हें पकड़ा उस वक्त करीब 10 नौकाएं उस इलाके में मछली पकड़ने के काम में लगी थीं । जब वे उन्हें कराची ले जा रहे थे, उस वक्त उनकी एक छोटी नौका मछली पकड़ने के इस्तेमाल में लाई जा रही एक भारतीय नौका से टकरा गई और भारतीय जलसीमा में पलट गई ।’’ उन्होंने बताया कि दो पाकिस्तानी अधिकारियों को उन भारतीय मछुआरों ने बचाया जो उस वक्त पीएमएसए की हिरासत में थे ।जब घटना की जानकारी भारतीय तटरक्षक बल का पोत ‘अरिंजय’ को हुई तो वह घटनास्थल की ओर रवाना हुआ । तटरक्षक बल ने रविवार की रात को समुद्र में अपना अभियान शुरू किया और अब तक भारतीय जलसीमा से तीन शवों को निकाला जा चुका है, जबकि एक की तलाश अब भी जारी है ।तटरक्षक बल ने पाकिस्तानियों के शव कल पीएमएसए को सौंप दिए ।

लोधारी ने यह दावा भी किया कि पीएमएसए ने सात नौकाओं और 42 मछुआरों को पकड़ा था । बहरहाल, उस इलाके में असल में 10 नौकाएं और 60 मछुआरे थे । चूंकि हमारे मछुआरों ने उनके अधिकारियों की जान बचाई और शवों को बरामद किया, इसलिए पीएमएसए ने कल 60 मछुआरों को रिहा करने का फैसला किया ।

कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान में मौत की सजा मिलने पर भारत का कड़ा रुख; रोकी पाकिस्तानी कैदियों की रिहाई

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App