scorecardresearch

मैं कहता हूं अंग्रेजों को दलाल, बुरा इनको लग जाता है, बोले- संजय सिंह, RS में गूंजे ठहाके

राज्यसभा में AAP सांसद संजय सिंह ने एक अलग अंदाज में बीजेपी सरकार को घेरा। संजय सिंह ने कहा कि मैं कहता हूं अंग्रेजों का दलाल, बुरा सरकार और बीजेपी को लग जाता है।

sanjay singh
AAP सांसद संजय सिंह ने बीजेपी पर एक अलग अंदाज में हमला बोला। (PTI)

शुक्रवार को राज्यसभा में AAP सांसद संजय सिंह ने एक अलग अंदाज में बीजेपी सरकार को घेरा। संजय सिंह ने कहा कि मैं कहता हूं अंग्रेजों का दलाल, बुरा सरकार और बीजेपी को लग जाता है। संजय सिंह की इस बात पर सदन में बाकी सदस्य हंसने लगे। सदन में अपनी बात रखते हुए संजय सिंह ने कहा, ”सर मुझे समझ में नहीं आता, मैं बहुत परेशान हो जाता हूं। मैं कहता हूं अंग्रेजों को दलाल बुरा इनको लग जाता है। ये क्या है सर, मैं कहता हूं अंग्रेजों से माफी मांगने वाले, बुरा इनको लग जाता है। मैं कहता हूं अंग्रेजों के गुलाम , बुरा इनको लग जाता है।”

अपने भाषण में केंद्र सरकार द्वारा पेश बजट 2021-22 को ‘‘अमीरों का बजट’’ बताते हुए आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने आरोप लगाया कि सरकार देश की संपत्ति बेच रही है। राज्यसभा में बजट पर चर्चा में हिस्सा ले रहे सिंह ने कहा ‘‘यह बजट देश की संपत्ति को बेचने के लिए है। आप रेल, सेल (एसएआईएल), कोयला, एलआईसी, बैंक, हवाईअड्डे, बंदरगाह, एफसीआई, बिजली, पानी, सड़क, बीपीसीएल…. बेच रहे हैं। ’’

संजय सिंह ने कहा कि देश की इस संपत्ति का सृजन 130 करोड़ भारतीयों ने किया है और यह निजी संपत्ति नहीं है जिसे बेचा जा सके। सिंह ने कहा ‘‘प्रधानमंत्री ने 75 दिन से कृषि कानूनों के विरोध में आंदोलन कर रहे किसानों को ‘आंदोलनजीवी’ कह कर उनका मजाक उड़ाया है। अब तक कम से कम 175 किसानों की आंदोलन के दौरान जान जा चुकी है। ’’


AAP सांसद ने कहा ‘‘ हमें क्रांतिकारियों पर, आंदोलनजीवियों पर गर्व है… वे लोग भाषणजीवी नहीं हैं। सिंह ने कहा कि सदन में चौधरी चरण सिंह का नाम लिया गया लेकिन उनके अनुयायी दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन कर रहे हैं और ‘‘आप उनकी सुध नहीं ले रहे हैं, उनका मजाक उड़ा रहे हैं।’’

बता दें कि इसी दौरान संसदीय कार्य राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने नियम 240 के तहत व्यवस्था का प्रश्न उठाया। पीठासीन अध्यक्ष से अनुमति मिलने पर उन्होंने कहा ‘‘चर्चा में हिस्सा ले रहे किसी भी सदस्य को अप्रासंगिक बातों पर नहीं बोलना चाहिए। चर्चा बजट पर केंद्रित होनी चाहिए।’’

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X