ताज़ा खबर
 

जब दीदी छोड़ सकती हैं तो मैं क्यों नहीं? TMC विधायक बोलीं- मुकुल रॉय से बात हुई है, वहां चुनाव नहीं लड़ूंगी

तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी की करीबी सहयोगी और पार्टी की चार बार की विधायक रहीं सोनाली गुहा ने शनिवार को पश्चिम बंगाल में आगामी विधानसभा चुनावों के लिए टिकट न दिए जाने के बाद भाजपा में शामिल होने की बात कही।

tmc,bjpविधायक सोनाली गुहा बीजेपी में शामिल होंगी। (ANI)।

तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी की करीबी सहयोगी और पार्टी की चार बार की विधायक रहीं सोनाली गुहा ने शनिवार को पश्चिम बंगाल में आगामी विधानसभा चुनावों के लिए टिकट न दिए जाने के बाद भाजपा में शामिल होने की बात कही। टीएमसी विधायक, जो पिछली चार बार से सतगछिया सीट से जीतती आ रही हैं शुक्रवार को टिकट न मिलने की खबर मिलने के तुरंत बाद रो पड़ीं। गुहा ने कहा कि उन्होंने भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय से बात की है और जल्द ही बीजेपी ज्वॉइन करेंगी।

गुहा ने कहा, ‘अगर ममता दीदी मुझे छोड़ सकती हैं तो मैं क्यों नहीं उन्हें छोड़ सकती हूं। मैं एक सम्मानजनक पद दिए जाने की कामना करती हूं, मुझे एक राजनेता के रूप में स्वीकार किया जाना चाहिए।’ उन्होंने कहा, ‘भगवान ममता दीदी को सद्बुद्धि दे। मैं शुरू से ही उनके साथ रही हूं। अब मुझे अपने भविष्य के बारे में सोचना होगा। मैं एक राजनेता हूं इस तरह से चुपचाप नहीं बैठ सकती।’ इससे पहल रॉय ने दावा किया कि गुहा के अलावा तृणमूल के कई अन्य विधायकों और नेताओं ने शुक्रवार शाम से उनसे संपर्क किया है।

मालूम हो कि शुक्रवार को सीएम ममता बनर्जी ने राज्य की 291 विधानसभा सीटों के लिए पार्टी के उम्मीदवारों की घोषणा की। इससे पहले कई टीएमसी विधायक, सांसद और नेता भगवा पार्टी में शामिल हो चुके हैं।

बता दें कि गुहा को सीएम ममता के आंदोलन के दौरान तब भी देखा गया था जब बनर्जी विपक्ष में हुआ करतीं थीं। टीएमसी के सत्ता में आने के बाद बनर्जी द्वारा गुहा को राज्य विधानसभा में उपाध्यक्ष भी बनाया गया था।

वहीं, बंगाल चुनाव में टिकट न मिलने से नेता दिनेश बजाज भी नाराज हैं और वे टीएमसी का साथ छोड़ चुके हैं। ऐसी उम्मीद जताई जा रही है कि दिनेश बजाज जल्द बीजेपी में शामिल हो सकते हैं।

पूर्व टीएमसी नेता दिनेश बजाज ने बताया, ‘जब मुझे लगा कि सारी हदें पार हो चुकी हैं। मैंने कहा अब और नहीं। मुझे इस बात से फर्क नहीं पड़ता कि मुझे बीजेपी से टिकट मिलता है कि नहीं। लेकिन अब टीएमसी में और नहीं रह सकता हूं। मैं ममता दीदी के साथ 20 सालों से रहा हूं लेकिन इस बात की कोई अहमियत नहीं है।’

Next Stories
1 कभी टिकरी बॉर्डर गए हो? डिबेट में एंकर ने भाजपा प्रवक्ता से पूछा, जवाब ना दे पाए सुधांशु त्रिवेदी
2 सिंघू बॉर्डर पर बना कच्चा घर, दिखा कर बोले राकेश टिकैत- हाईवे पर गांव बसाएँगे
3 बंगाल चुनाव: BJP ने जारी की 57 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट, CM ममता के खिलाफ लड़ेंगे सुवेंदु अधिकारी; अशोक डिंडा को भी टिकट
ये पढ़ा क्या?
X