नहीं मिली ऑक्सीजन तो HC पहुंचा मैक्स, कोर्ट की केंद्र को फटकार, कहा- तत्काल हो गैस की आपूर्ति

कोर्ट ने केंद्र सरकार को फटकार लगाते हुए कहा कि इस समय उद्योगों को ऑक्सीजन सप्लाई करने की क्या जरूरत है। गैस की जरूरत अस्पताल में कराह रहे मरीजों को ज्यादा है बजाए स्टील प्लांट के। टीवी रिपोर्ट के मुताबिक, कोर्ट ने केंद्र से दो घंटे के भीतर अस्पताल को ऑक्सीजनम की सप्लाई करने को कहा है।

oxygen, oxygen shortage, Max hospital, delhi HC, court rebuked the center,दिल्ली हाईकोर्ट के दखल पर मैक्स अस्पताल को मिलेगी ऑक्सीजन (फाइल फोटो)

दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन की किल्लत भयावह हो गई है। तकरीबन सभी अस्पतालों का स्टॉक खत्म हो गया है। मैक्स अस्पताल को गुहार लगाने के बाद भी ऑक्सीजन नहीं मिली तो उसने दिल्ली हाईकोर्ट का रुख किया। कोर्ट ने केंद्र को सख्त हिदायत देते हुए कहा कि मैक्स के सभी 6 अस्पतालों को तत्काल ऑक्सीजन मिले।

कोर्ट ने केंद्र सरकार को फटकार लगाते हुए कहा कि इस समय उद्योगों को ऑक्सीजन सप्लाई करने की क्या जरूरत है। गैस की जरूरत अस्पताल में कराह रहे मरीजों को ज्यादा है बजाए स्टील प्लांट के। कोर्ट का कहना था कि सरकार को जमीनी सच्चाई को समझकर काम करना चाहिए। अस्पताल में लोग ऑक्सीजन की कमी से मर रहे हैं और आपकी प्राथमिकता उद्योग हैं।

मैक्स के 6 अस्पतालों में फिलहाल 14 सौ मरीज हैं। अस्पताल प्रबंधन गैस को लेकर लगातार गुहार लगा रहा था। लेकिन जब सुनवाई नहीं हुई तो उसने कोर्ट का रुख किया। प्रबंधन ने कोर्ट से अपील की कि अगर गैस नहीं मिली तो उसके यहां भी नासिक जैसा हाल हो सकता है। मरीजों को तत्काल ऑक्सीजन करी जरूरत है। फिलहाल उसके पास कुछ घंटे की गैस बची है। प्रबंधन ने आरोप लगाया कि जो गैस उसके पास भेजी जा रही थी वो सरकार ने एम्स को भिजवा दी। कोर्ट ने केंद्र से दो घंटे के भीतर अस्पताल को ऑक्सीजन की सप्लाई करने को कहा है।

दिल्ली समेत पूरा देश इस समय बढ़ते कोरोना मरीज और उनके लिए हो रही ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहा है। सूत्रों के मुताबिक दिल्ली के सेंट स्टीफेंस अस्पताल, अपोलो अस्पताल और होली फैमिली अस्पताल में भी ऑक्सीजन की कमी हो गई है। इनमें से सेंट स्टीफेंस में तो सिर्फ दो घंटों की ही ऑक्सीजन बची है।

अस्पताल प्रशासन का कहना है कि उन्होंने सरकार से गुहार लगाई है कि जल्द से जल्द ऑक्सीजन की सप्लाई हो नहीं तो मुश्किल हो सकती है। यहां करीब 300 कोरोना के मरीज भर्ती हैं। अस्पताल की मांग पर अब सेंट स्टीफेंस के लिए ऑक्सीजन भेजी जा रही है, जो जल्द ही वहां पहुंच जाएगी।

वहीं सर गंगाराम अस्पताल से भी सूचना है कि वहां सिर्फ पांच घंटे की ऑक्सीजन बची है। यहां 58 कोरोना मरीज भर्ती  हैं, जिसमें से 10 आईसीयू में हैं। वहीं 35 मरीज अस्पताल में भर्ती होने का इंतजार कर रहे हैं। अपोलो अस्पताल में सिर्फ 10-12 घंटे की ऑक्सीजन बची है और अस्पताल में इस वक्त 350 से ज्यादा मरीज ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं। ऐसे में ऑक्सीजन की आपूर्ति बेहद जरूरी है।

उधर, सूत्रों का कहना है कि फिलहाल केंद्र ने दिल्ली का ऑक्सीजन कोटा बढ़ा दिया है। इसके लिए दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने केंद्र का धन्यवाद किया है। केजरीवाल ने अपने ट्वीट में कहा कि दिल्ली के मरीजों की मदद के लिए मोदी सरकार का शुक्रिया। यह बहुत बड़ी मदद है। उधर, मरीजों के परिजनों का कहना है कि अस्पताल अभी भी गैस देने में आनाकानी कर रहे हैं।

Next Stories
1 संबित की बातों पर बोले एंकर- भविष्य छोड़ आज की बात करें, लोग मर रहे चीत्कार कर रहे, क्या आपको नहीं दिखता
2 कोविड संकट पर पप्पू यादव ने कसा मोदी पर तंज तो बीच में कूदे अर्णब, बोले- आप लक्ष्मण रेखा पार कर रहे, मिला करारा जवाब
3 मास्किंग-मास्किंग कहने से कुछ नहीं होगा, बोले फोर्टिस चेयरमैन- नया वेरिएंट खतरनाक, आज जरूरत है डबल मास्क लगाने की
X