ताज़ा खबर
 

…जब “3 इडियट्स” बने अरुण जेटली, पीयूष गोयल और धर्मेंद्र प्रधान!

यह खबर मिलते ही अरुण जेटली, पीयूष गोयल और धर्मेंद्र प्रधान तुरंत ही अस्पताल के लिए निकल गए।

जेटली ने सोचा कि वाणिज्य और उद्योग मंत्री निर्मला सिथारमन से कुछ दिन पहले ही उन्होंने मुलाकात की थी और वे एक दम स्वस्थ लग रही थीं।

हाल ही में अपने एक परिचित के बीमार होने की खबर सुनने के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली, ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल और पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान यूपी के नोएडा स्थित कैलाश हॉस्पिटल में पहुंचे थे, लेकिन एक गलतफहमी की वजह से तीनों 3 इडियट्स बन गए। आप सोच रहे होंगे कि केंद्र सरकार के इतने बड़े ओहदे पर बैठे मंत्रियों को हम इडियट कह रहे हैं तो चौंकिए मत, क्योंकि इन तीनों मंत्रियों ने ही खुद को 3 इडियट्स कहकर संबोधित किया है।

आपको बता दें कि अरुण जेटली दिल्ली स्थित विज्ञान भवन में चल रही एक अंतरराष्ट्रीय कांफ्रेंस में थे कि तभी संस्कृति मंत्री महेश शर्मा की बेटी उनके पास जा पहुंची। उसने बहुत ही चिंताजनक आवाज़ में जेटली से कहा कि निर्मला उसके पिता के कैलाश अस्पताल के आईसीयू में भर्ती है और उसकी हालत बहुत ही नाजुक है। यह सुनते ही जेटली ने सोचा कि वाणिज्य और उद्योग मंत्री निर्मला सितारमन से कुछ दिनों पहले ही उन्होंने मुलाकात की थी और वे एकदम स्वस्थ लग रही थीं। महेश शर्मा की बेटी की बात सुनकर जेटली सोच में डूब गए कि न जाने निर्मला सितारमन को अचानक क्या हो गया जो वो आईसीयू में भर्ती हैं। यह खबर मिलते ही अरुण जेटली, पीयूष गोयल और धर्मेंद्र प्रधान तुरंत ही अस्पताल के लिए निकल गए।

तीनों दिल्ली नोएडा के बोर्डर पर पहुंचे ही थे कि अरुण जेटली को उनकी बीवी संगीता जेटली का फोन आ गया। संगीता ने जेटली से कहा कि जल्दी से घर आ जाइए कोई आपसे मिलने के लिए इंतजार कर रहा है। जेटली ने संगीता से कहा कि अभी हम निर्मला सितारमन से मिलने अस्पताल जा रहे हैं। यह सुनने के बाद संगीता को समझ आ गया कि तीनों मंत्रियों को गलतफहमी हुई है क्योंकि अस्पताल में उनकी कामवाली भर्ती है जिसका नाम भी निर्मला है, न कि निर्मला सितारमन। जब इस गलतफहमी के बारे में निर्मला सितारमन को पता चला तो उन्होंने पीयूष गोयल और धर्मेंद्र प्रधान से पूछा कि वे उनसे वापस क्यों नहीं मिले। इसका जवाब देते हुए दोनों मंत्रियों ने कहा कि उस समय हम तीनों 3 इडियट्स की तरह लग रहे थे।

देखिए वीडियो

Next Stories
1 CBSE 12th Results: कॉपियां जांचने में हुई बड़ी चूक, री-चेकिंग करने पर 400 फीसद तक बढ़ गए अंक
2 बीजेपी सांसद परेश रावल ने कहा, इंसानों के लिए होता है मानवाधिकार, लोग बोले- आतंकियों और अरुधंति रॉय के लिए नहीं
3 संघ जब ICHR और ICSSR में भगवा विचार वालों को बैठा सकता है तो राष्ट्रपति भवन में क्यों नहीं?
ये पढ़ा क्या?
X