ताज़ा खबर
 

WhatsApp Snooping Case: सोनिया गांधी का मोदी सरकार पर हमला, कहा- इजरायली सॉफ्टवेयर से जासूसी कराना शर्मनाक

WhatsApp Snooping Case, Sonia Gandhi Slams PM Modi Gov: सोनिया गांधी ने कहा कि यह हैरान करने वाला खुलासा हुआ है कि मोदी सरकार द्वारा लिए गए इजरायली पिगासस सॉफ्टवेयर के माध्यम से पत्रकारों और नेताओं की जासूसी और गैरकानूनी गतिविधियां की गईं।

Author दिल्ली | Published on: November 3, 2019 9:08 AM
crime newsप्रतीकात्मक फोटो (सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

WhatsApp Snooping Case, Congress Sonia Gandhi Slams PM Modi Gov: कांग्रेस नेता सोनिया गांधी ने कई सामाजिक कार्यकर्ताओं और पत्रकारों की कथित जासूसी के मामले को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर तीखा हमला बोला और कहा कि इस तरह की ‘‘गतिविधियां न सिर्फ गैरकानूनी एवं असंवैधानिक हैं, बल्कि शर्मनाक’’ भी हैं। सोनिया ने पार्टी महासचिवों-प्रभारियों की बैठक में सरकार पर संवैधानिक संस्थाओं पर कमजोर करने का आरोप भी लगाया।

सोनिया का मोदी सरकार पर हमला: उन्होंने कहा, ‘‘यह हैरान करने वाला खुलासा हुआ है कि मोदी सरकार द्वारा लिए गए इजरायली पिगासस सॉफ्टवेयर के माध्यम से सामाजिक कार्यकर्ताओं, पत्रकारों और नेताओं की जासूसी और गैरकानूनी गतिविधियां की गईं। ये गतिविधियां न सिर्फ गैरकानूनी और असंवैधानिक हैं, बल्कि शर्मनाक भी हैं।’’ सोनिया ने अर्थव्यवस्था में सुस्ती और क्षेत्रीय समग्र आर्थिक साझेदारी समझौते (आरसीईपी) को लेकर भी सरकार पर निशाना साधा उन्होंने दावा किया कि अर्थव्यवस्था की खराब स्थिति को स्वीकारने और इसे ठीक करने के कदम उठाने के बजाय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ‘सुर्खियां बटोरने एवं आयोजनों के प्रबंधन’ में व्यस्त हैं।

मंदी मानाने को तैयार नहीं सरकार: बैठक में सोनिया ने कहा, ‘‘एक नागरिक और जिम्मेदार विपक्ष के सदस्य के तौर पर मुझे भारतीय अर्थव्यवस्था की स्थिति देखकर दुख होता है। इससे भी ज्यादा चिंता की बात यह है कि सरकार इससे मानने को तैयार नहीं है। गंभीर मंदी को स्वीकारने और समग्र समाधान तलाशने के बजाय प्रधानमंत्री मोदी सुर्खियां बटोरने और आयोजनों में व्यस्त हैं।’’ उन्होंने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री के इस रुख की लाखों भारतीय नागरिकों खासकर बेरोजगार युवाओं और किसानों को भारी कीमत चुकानी पड़ रही है।

Hindi News Today, 03 November 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की तमाम अहम खबरों के लिए क्लिक करें

गंभीर दुष्परिणाम होंगे: एशिया-प्रशांत के 16 देशों के साथ प्रस्तावित आरसीईपी समझौते का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘सरकार के कई निर्णयों से अर्थव्यस्था को कम नुकसान नहीं हुआ था कि अब वह आरसीईपी के माध्यम से बड़ा नुकसान पहुंचाने की तैयारी में है। इससे हमारे किसानों, दुकानदारों, छोटे एवं मझले इकाइयों पर गंभीर दुष्परिणाम होंगे।’’ सोनिया ने कहा, ‘‘मुझे महिलाएं और उनसे जुड़े मुद्दों को लेकर सरकार के रवैये का उल्लेख करना होगा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 सोनिया-राहुल और प्रियंका गांधी एक साथ बोलेंगे मोदी सरकार पर हमला, कांग्रेस करने जा रही केंद्र के खिलाफ विशाल रैली
2 उत्तर प्रदेश: ‘गैंगरेप’ का वीडियो वायरल, 25 वर्षीय महिला की शिकायत पर तीन गिरफ्तार
3 कारोबारी अडानी की बढ़ेंगी मुश्किलें? सुप्रीम कोर्ट जाएगी केंद्रीय जांच एजेंसी! जानें क्या है मामला