ताज़ा खबर
 

राजनीतिक मसलों को निपटाने के लिए ना करें सुप्रीम कोर्ट का इस्तेमाल, CJI ने भाजपा नेता की याचिका पर सुनवाई के दौरान की टिप्पणी

भाजपा नेता ने पश्चिम बंगाल में राजनैतिक हिंसा के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दाखिल की है। सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने इस पर नाखुशी जाहिर की है।

सीजेआई जस्टिस एसए बोबडे।

पश्चिम बंगाल में भाजपा और टीएमसी कार्यकर्ताओं के बीच जारी राजनैतिक हिंसा का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। दरअसल एक भाजपा नेता ने सुप्रीम कोर्ट में इस मुद्दे पर एक याचिका दाखिल की है। सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने इस पर नाखुशी जाहिर की है। याचिका पर सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया एसए बोबडे ने टिप्पणी करते हुए कहा कि राजनैतिक मामलों का निपटारा करने के लिए सुप्रीम कोर्ट का इस्तेमाल नहीं होना चाहिए। सीजेआई ने कहा कि बेहतर होगा कि आप टीवी स्क्रीन पर अपना स्कोर बराबर कर लें।

बता दें कि भाजपा प्रवक्ता गौरव बंसल ने पश्चिम बंगाल में चल रही राजनैतिक हिंसा के मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दाखिल की थी। याचिका पर सुनवाई के दौरान भाजपा की तरफ से वरिष्ठ वकील गौरव भाटिया और पश्चिम बंगाल सरकार की तरफ से वरिष्ठ वकील और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल कोर्ट में पेश हुए।

सुनवाई के दौरान कपिल सिब्बल ने इसका विरोध किया और कहा कि कोर्ट को यह जांचना चाहिए कि कोई राजनैतिक पार्टी जनहित याचिका दाखिल कर सकती है क्या! सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस ने कहा कि ‘हम ये बात जानते हैं कि राजनैतिक पार्टियां अपने मसले सुलझाने के लिए कोर्ट का इस्तेमाल करती हैं। सीजेआई ने कहा कि बेहतर होगा कि आप दोनों किसी टीवी चैनल पर जाएं और वहां अपने स्कोर बराबर कर लें।’

याचिका पर सुनवाई कर रही बेंच ने दोनों वरिष्ठ वकीलों के कोर्ट में राजनैतिक बयानबाजी करने पर भी नाराजगी जाहिर की। हालांकि याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार से जवाब मांगा है। जवाब देने के लिए पश्चिम बंगाल सरकार को कोर्ट ने 4 हफ्ते का समय दिया है।

बता दें कि भाजपा नेता की तरफ से कोर्ट में जो याचिका दाखिल की गई थी, उसमें पश्चिम बंगाल में भाजपा कार्यकर्ता दुलाल कुमार की मौत की सीबीआई जांच की मांग की गई थी। साल 2018 में पश्चिम बंगाल के बलरामपुर विधानसभा क्षेत्र के दाहा गांव में दुलाल कुमार नामक युवक का शव एक हाईटेंशन टावर से लटका मिला था।

बताया गया था कि दुलाल टीएमसी सरकार के खिलाफ भाजपा द्वारा आयोजित की गई रैली में भाग लेने गया था। भाजपा ने दुलाल की हत्या होने का आरोप लगाया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 अदनान सामी को पद्मश्री देने पर भड़की NCP, नवाब मलिक बोले- कोई पाकिस्तानी भी ‘जय मोदी’ बोल दे तो उसे मिल जाएगा सम्मान
2 Air India Sell: खरीददार नहीं मिले तो बोली मोदी सरकार- पूरी हिस्सेदारी बेच दूंगा, बस कर्ज का भी बोझ उठा लें
3 निकाह हलाला, बहुपत्नी प्रथा के खिलाफ मामले में पक्षकार बनने सुप्रीम कोर्ट पहुंचा मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड
ये पढ़ा क्या?
X