ताज़ा खबर
 

पश्चिम बंगालः जिन दो जगहों पर राहुल ने रैली की, कांग्रेस की जमानत जब्त, पहली बार असेंबली में नहीं होगा लेफ्ट का एमएलए

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में तीसरे मोर्चे को मुंह की खानी पड़ी है। लगभग 85% सीटों पर उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई।

rahul gandhi, congressराहुल गांधी ने रैली में पीएम मोदी पर हमला बोला। (ANI)।

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में तीसरे मोर्चे को मुंह की खानी पड़ी है। लगभग 85% सीटों पर उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई यहां तक कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने जिन दो सीटों पर रैलियां की वहां भी उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई।

चुनाव परिणामों के विश्लेषण से पता चलता है कि तीसरे मोर्चे के उम्मीदवार चुनाव में 292 सीटों में से केवल 42 में ही अपनी जमानत बचा पाए। मालूम हो कि एक उम्मीदवार की जमानत तब जब्त हो जाती है जब वह मतदान के 16.5% वोट भी हासिल नहीं कर पाता है। वाम दलों और कांग्रेस दोनों की चुनाव में एक भी सीट नहीं आ सकी है। वहीं इंडियन सेक्युलर फ्रंट (ISF) के खाते में एक सीट आई है। जिसके चलते तीसरे मोर्चे को एक सीट हासिल हुई। ISF ने अन्य दो सहयोगियों की तुलना में बेहतर प्रदर्शन किया।

कांग्रेस के लिए यह बेहद शर्मनाक रहा कि वह उन दो सीटों में बुरी तरह से हार गई – जहाँ राहुल गांधी ने रैलियां की थीं। वहां के उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई। कांग्रेस के पास लगभग एक दशक तक मतिगारा-नक्सलबाड़ी सीट रही थी लेकिन इस बार मौजूदा विधायक शंकर मालाकार सिर्फ 9% वोट पा सके और तीसरे स्थान पर रहे। गोलपोखर में भी कांग्रेस का उम्मीदवार सिर्फ 12% वोट पाकर तीसरे स्थान पर रहा । कांग्रेस के पास ये सीट 2006 से 2009 तक और फिर 2011 से 2016 तक रही थी।

वामपंथी पार्टियों ने अपने द्वारा लड़ी गई 170 सीटों में से सिर्फ 21 में जमानत बरकरार रखी। कांग्रेस भी 90 में से 11 सीटों पर ऐसा कर सकी। वहीं इंडियन सेक्युलर फ्रंट 30 में से 10 सीटों पर जमानत बचा सका। आईएसएफ ने एक सीट जीती और चार सीटों में दूसरे नंबर पर रहा। इस प्रदर्शन से पता चलता है कि तीसरे मोर्चे में सिर्फ फुरफुरा शरीफ के मौलवी अब्बास सिद्दीकी की पार्टी बेहतर प्रदर्शन कर सकी।

लेफ्ट पार्टियां केवल चार सीटों और कांग्रेस केवल दो सीटों पर दूसरे नंबर पर आ सकीं। तीसरे मोर्चे के सारे वोट तृणमूल कांग्रेस को मिले। कुल मिलाकर, कांग्रेस पश्चिम बंगाल में केवल 2.94% वोट सुरक्षित कर सकी, जबकि वाम दलों को लगभग 5% वोट मिले।

Next Stories
1 5 राज्यों में हारने, बंगाल में डबल जीरो आने के बाद वो हैं हैप्पी, राहुल के ट्वीट पर बोले शिवराज के मंत्री- खुश रहना है तो कांग्रेसी नेता से सीखें
2 कोरोनाः रोजाना हो रही मौतों के बीच बोला केंद्र- बीते साल ऑक्सिजन का उत्पादन था 5700 मीट्रिक टन, अब है 9 हजार
3 वार्षिक अपडेट के बाद ICC T20 Rankings में भारत नंबर-2, ODI में तीसरे स्थान पर खिसका
आज का राशिफल
X