पश्चिम बंगालः CM ममता बनर्जी को बता दिया “बाहरी”, KLO चीफ के खिलाफ UAPA के तहत केस

साल 1995 में ऑल कामतापुर स्टूडेंट्स यूनियन (एकेएसयू) के कोच-राजबोंगशी समुदाय के सदस्यों ने भारत से अलग कामतापुर राष्ट्र की मांग करते हुए मुक्ति का एक सशस्त्र संघर्ष शुरू किया था, जिसके बाद केएलओ अस्तित्व में आया था।

Mamata Banerjee, West Bengal, UAPA
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (फाइल फोटो- PTI)

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को कथित रूप से ”बाहरी” बताने और राज्य सरकार को ”विदेशी” सरकारों का केन्द्र कहने वाले आतंकवादी समूह केएलओ के प्रमुख जीवन सिंह उर्फ तामिर दास के खिलाफ कठोर गैरकानूनी गतिविधियां निवारण अधिनियम (यूएपीए) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि राज्य के विशेष कार्यबल ने इन टिप्पणियों के लिये सिंह पर यूएपीए के अलावा राजद्रोह का आरोप भी लगाया है। सिंह का वह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। कथित वीडियो में कामतापुर लिबरेशन ऑर्गनाइजेशन (केएलओ) के प्रमुख सिंह को केन्द्रीय मंत्री जॉन बारला के उस बयान का समर्थन करते हुए सुना गया था, जिसमें उन्होंने पश्चिम बंगाल के उत्तरी हिस्सों को मिलाकर एक अलग राज्य बनाने की मांग की थी।

एसटीएफ के अधिकारी ने कहा, ”हमने उस वीडियो के संबंध में जीवन सिंह के खिलाफ मामला दर्ज किया है, जिसमें वह यह सब बातें कहता हुआ सुनाई दे रहा है। हम वीडियो के स्रोत का पता लगाने के प्रयास कर रहे हैं। मामले की जांच जारी है। ” केन्द्र सरकार केएलओ को आतंकवादी समूह घोषित कर चुकी है।

साल 1995 में ऑल कामतापुर स्टूडेंट्स यूनियन (एकेएसयू) के कोच-राजबोंगशी समुदाय के सदस्यों ने भारत से अलग कामतापुर राष्ट्र की मांग करते हुए मुक्ति का एक सशस्त्र संघर्ष शुरू किया था, जिसके बाद केएलओ अस्तित्व में आया था। उनकी मांग के अनुसार, कामतापुर राष्ट्र में पश्चिम बंगाल के छह जिले – कूच बिहार, दार्जिलिंग, जलपाईगुड़ी, उत्तर दिनाजपुर, दक्षिण दिनाजपुर तथा मालदा, असम के चार जिले, बिहार का किशनगंज जिला और नेपाल का झापा जिला शामिल होगा।

ममता आज प्रधानमंत्री से करेंगी मुलाकात: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सोमवार को अपने पांच दिवसीय दौरे के लिए दिल्ली पहुंचीं। यह तीसरी बार पश्चिम बंगाल की सत्ता संभालने के बाद वो पहली बार दिल्ली पहुंची हैं। आज मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उनकी मुलाकात होने की संभावना है। तृणमूल कांग्रेस की ओर से जारी कार्यक्रम के अनुसार, ममता बनर्जी मंगलवार को शाम चार बजे प्रधानमंत्री से मुलाकात करेंगी। वह बुधवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से भी मुलाकात कर सकती हैं। बनर्जी का कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के अलावा कमलनाथ, आनंद शर्मा और अभिषेक मनु सिंघवी समेत अन्य कांग्रेसी नेताओं से मुलाकात का भी कार्यक्रम है।

अपडेट
X