ताज़ा खबर
 

शुभेंदु के गढ़ में पहुंचीं ममता, तो बोले अधिकारी- 2019 में BJP ने कर दिया था हाफ, 2021 में होंगी साफ

भाजपा नेता ने आरोप लगाया कि बनर्जी नंदीग्राम के लोगों की भावनाओं के साथ खेल रही हैं लेकिन ‘‘ इस बार यह काम नहीं करेगा और उनकी पार्टी लोकतांत्रिक ढंग से बंगाल की खाड़ी में फेंक दी जाएगी।’’

TMC, BJP, Bengalपश्चिम बंगालः TMC चीफ और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी व BJP नेता शुभेंदु अधिकारी। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

BJP नेता शुभेंदु अधिकारी ने कहा है कि साल 2019 में भाजपा ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और TMC अध्यक्ष ममता बनर्जी को हाफ कर दिया था, जबकि 2021 वह साफ हो जाएंगीं। अधिकारी की यह टिप्पणी उस सवाल पर आई, जिसमें उनसे पूछा गया था कि ममता उनके गढ़ तक पहुंच गई हैं। दरअसल, सोमवार को दीदी ने ऐलान किया कि वह विधानसभा सीट नंदीग्राम से चुनाव लड़ेंगी। यह सीट अधिकारी का गढ़ मानी जाती है, जबकि बनर्जी की ओर से मिली चुनौती स्वीकारने पर अधिकारी ने यह तक कह दिया कि वह चुनाव में उन्हें हरायेंगे वरना राजनीति छोड़ देंगे।

हालांकि, पूर्व तृणमूल नेता ने कहा कि उम्मीदवारों पर आखिरी निर्णय भाजपा नेतृत्व विस्तृत चर्चा के बाद लेगा, न कि जैसे सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस में मनमाने तरीके से होता है। अधिकारी के अनुसार ‘‘अगर मुझे मेरी पार्टी नंदीग्राम से चुनाव मैदान में उतारती है तो मैं उनको कम से कम 50000 वोटों के अंतर से हराऊंगा, अन्यथा मैं राजनीति छोड़ दूंगा।’’

उन्होंने कहा कि लेकिन तृणमूल कांग्रेस जहां बनर्जी और उनके भतीजे ‘तानाशाही’ तरीके से चलाते हैं वहीं भाजपा में उम्मीदवार चर्चा के बाद तय किये जाते हैं और मेरी उम्मीदवारी पर फैसला पार्टी को करना है। तीन किलोमीटर के रोडशो के बाद उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं से कहा, ‘मैं नहीं जानता कि मुझे कहां से उतारा जाएगा और उतारा भी जाएगा या नहीं।’’

उन्होंने कहा कि बनर्जी बस चुनाव से पहले ही नंदीग्राम को याद करती हैं और उनपर नंदीग्राम गोलीबारी में लिप्त रहे एक आईपीएस अधिकारी को चार बार सेवा विस्तार देने का आरोप लगाया।’’ भाजपा नेता ने आरोप लगाया कि बनर्जी नंदीग्राम के लोगों की भावनाओं के साथ खेल रही हैं लेकिन ‘‘ इस बार यह काम नहीं करेगा और उनकी पार्टी लोकतांत्रिक ढंग से बंगाल की खाड़ी में फेंक दी जाएगी।’’

उन्होंने दावा किया कि बनर्जी की सभा में ज्यादातर लोग बाहर से लाए गए थे। बनर्जी ने उससे पहले दिन में नंदीग्राम से विधानसभा चुनाव लड़ने का ऐलान करके सभी को चौंका दिया था। इस सीट से राजनीतिक दिग्गज अधिकारी जीते थे।

30 जनवरी को प्रस्तावित शाह की सभा की तैयारी शुरूः पश्चिम बंगाल में मतुआ समुदाय के बाहुल्य वाले ठाकुरनगर में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की 30 जनवरी को प्रस्तावित जनसभा के लिए सोमवार को तैयारियां शुरू हो गयीं और वरिष्ठ भाजपा नेताओं ने क्षेत्र का दौरा कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। शाह पश्चिम बंगाल में अप्रैल-मई में होने वाले विधानसभा चुनाव के सिलसिले में दो दिन के दौरे पर राज्य आ रहे हैं। वह उत्तर 24 परगना जिले के ठाकुरनगर में जनसभा को संबोधित करेंगे। यहां अनेक विधानसभा क्षेत्रों में मतुआ समुदाय का प्रभुत्व है।

MLC चुनाव में BJP विधायक ‘भागने’ को तैयार- अखिलेशः समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सोमवार को दावा किया कि उत्तर प्रदेश विधान परिषद के आगामी चुनाव में मतदान होने की स्थिति में सत्तारूढ़ भाजपा के विधायक ‘भागने’ (क्रास वोटिंग) को तैयार हैं। अखिलेश ने श्रावस्ती में संवाददाताओं से बातचीत के दौरान कहा, “मुझे यह पता नहीं है कि अभी कितने उम्मीदवारों ने पर्चा भरा है, लेकिन अगर चुनाव में मतदान होगा तो भारतीय जनता पार्टी को अपने विधायकों का सम्मान करना पड़ेगा। उनके विधायक भागने के लिए तैयार हैं, क्योंकि उन्हें पता है कि बहुतों का टिकट 2022 में कट जाएगा।”

‘पार्टी की जमीन खिसकने से डरी हैं ममता’: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने सोमवार को कहा कि तृणमूल कांग्रेस को डर लग रहा है कि उसके पैरों के नीचे की जमीन खिसक गयी है, इसलिए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अचानक घोषणा की कि वह नंदीग्राम से आगामी विधानसभा चुनाव लडेंगी। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा, ‘‘ ऐसा लगता है कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भवानीपुर में हार भांप गयी हैं। इसलिए उन्होंने अचानक घोषणा की कि वह नंदीग्राम से चुनाव लड़ेंगी। लेकिन वह वहां भी हारेंगी। तृणमूल कांग्रेस हर जगह हारेगी।’’ पूरबा मेदिनीपुर जिले के नंदीग्राम में विशेष आर्थिक क्षेत्र के निर्माण के लिए तत्कालीन वाममोर्चा सरकार द्वारा ‘जबरन’ भूमि अधिग्रहण के विरूद्ध जबर्दस्त जनांदोलन हुआ था। उसके बाद ही बनर्जी, 2011 में सत्तासीन हुई थीं। (भाषा इनपुट्स के साथ)

Next Stories
1 कोरोना टीकाकरण के 3 दिनः 3,81,305 लोगों को मिली वैक्सीन, 580 में साइड इफेक्ट्स- केंद्र
2 WhatsApp लीक चैट: एयरस्ट्राइक सरीखी चीजें अर्णब को कैसे थीं मालूम?…Republic TV को घेर पूछ रहे लोग
3 ‘अर्णब गोस्वामी के खिलाफ तो पूरा मुल्क खड़ा हो गया है…’, बोले रिटायर्ड मेजर गौरव आर्या- बधाई हो, बड़ी इज्जत की बात है
ये पढ़ा क्या?
X