ताज़ा खबर
 

ममता सरकार से HC ने पूछा- दुर्गा पूजा आयोजकों को किस लिए दिए 50-50 हजार रुपए?

कोर्ट ने राज्य सरकार से यह भी पूछा कि क्या इस तरह के खर्च के लिए कोई दिशानिर्देश दिया गया है क्योंकि यह सार्वजनिक धन है जिसे पूजा आयोजकों को अनुदान के रूप में दिया जा रहा है।

Mamta Banerjee, Supreme Court,ममता बनर्जी के फैसले को लेकर कोर्ट ने सवाल उठाए हैं। (फाइल फोटो)

पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी सरकार की तरफ से दुर्गा पूजा आयोजकों को 50-50 हजार रुपए देने के फैसले को लेकर कलकत्ता हाई कोर्ट ने सवाल उठाए हैं।  सामुदायिक दूर्गा पूजा समितियों को 50 हजार रुपये देने संबंधी सरकार के फैसले को चुनौती देने वाली एक याचिका की सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति संजीव बनर्जी और अरिजीत बनर्जी की एक खंडपीठ ने यह भी जानना चाहा कि क्या ईद जैसे अन्य त्योहारों के लिए वित्तीय सहायता दी जा रही है।

खंडपीठ ने राज्य सरकार से यह भी पूछा कि क्या इस तरह के खर्च के लिए कोई दिशानिर्देश दिया गया है क्योंकि यह सार्वजनिक धन है जिसे पूजा आयोजकों को अनुदान के रूप में दिया जा रहा है। राज्य सरकार ने अदालत को बताया कि आर्थिक मदद कोविड-19 नियंत्रण, सैनिटाइटर और मास्क की खरीद पर सार्वजनिक जागरूकता बढ़ाने के लिए है।

पीठ ने कहा कि व्यय के खातों को अच्छी तरह से बनाए रखा जाना चाहिए। पीठ ने सुझाव दिया कि राज्य की ओर से पेश महाधिवक्ता किशोर दत्ता, याचिकाकर्ता की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता विकास भट्टाचार्य ऐसे सभी मामलों पर एक बैठक करें और शुक्रवार को इसके नतीजों के बारे में अदालत को सूचित करे। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने 24 सितम्बर को राज्य की प्रत्येक पूजा समिति को 50 हजार रुपये की आर्थिक मदद देने की घोषणा की थी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Amazon Great Indian Festival: Apple iPhone 11 समेत इन स्मार्टफोन्स पर अमेजन सेल में भारी डिस्काउंट, होगी 20 हजार तक की बचत
2 सुप्रीम कोर्ट ने महिलाओं के अधिकारों पर दिया बड़ा फैसला, अब घरेलू हिंसा अधिनियम के तहत…
IPL 2020 LIVE
X