ताज़ा खबर
 

ममता बनर्जी पर बरसे बंगाल कांग्रेस प्रमुख, गिरगिट से लेकर बताया तानाशाह

बंगाल कांग्रेस प्रमुख की यह टिप्पणी तब आई है, जिससे पहले ममता दिल्ली में कांग्रेस के शीर्ष नेताओं से मुलाकात कर रही थीं। वह उस दौरान कांग्रेस की पूर्व सर्वेसर्वा सोनिया गांधी और पार्टी के वर्तमान अध्यक्ष राहुल गांधी से मिली थीं।

प.बंगाल कांग्रेस प्रमुख का कहना है कि ममता प्रधानमंत्री पद के पीछे पड़ी हैं। (फोटोः ममता बनर्जी-अधीर रंजन चौधरी के FB पेज से)

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर राज्य कांग्रेस के प्रमुख अधीर रंजन चौधरी जमकर बरसे हैं। उन्होंने सीएम को गिरगिट, तानाशाह और ट्रोजन हॉर्स (अंतरघात करने वाला व्यक्ति) बताया है। चौधरी ने इसके साथ ही आरोप लगाया है कि ममता प्रधानमंत्री पद के पीछे पड़ी हुई हैं। बंगाल कांग्रेस प्रमुख की यह टिप्पणी तब आई है, जिससे ठीक पहले ममता ने नई दिल्ली में कांग्रेस के शीर्ष नेताओं से मुलाकात की थीं। वह उस दौरान कांग्रेस की पूर्व सर्वेसर्वा सोनिया गांधी और पार्टी के वर्तमान अध्यक्ष राहुल गांधी से मिली थीं।

चौधरी ने बताया, “उनका (सीएम) इकलौता उद्देश्य देश की प्रधानमंत्री बनना है। वह पीएम पद के पीछे हाथ धोकर पड़ी हैं। उनके दिमाग में देवगौड़ा सिंड्रोम और गुजराल सिंड्रोम है।” आगे आरोप लगाते हुए वह बोले कि सीएम एक तरफ तो बंगाल में कांग्रेस का खात्मा करना चाहती हैं। वहीं, दूसरी ओर वह आगामी लोकसभा चुनाव में पार्टी का समर्थन पाने की उम्मीद भी लगाए बैठी हैं।

बकौल प.बंगाल कांग्रेस प्रमुख, “वह (ममता) गिरगिट हैं, जो कि अपने रंग बदलता रहता है। वह अविश्वसनीय और अप्रत्याशित राजनेता हैं। ऐसे में कांग्रेस और अन्य पार्टियों के नेताओं को उन पर कतई भरोसा नहीं करना चाहिए।”

यही नहीं उनका कहना है कि ममता तानाशाह भी हैं, जो अब फीमेल मॉन्क (साध्वी) बनने के प्रयास कर रही हैं। कांग्रेस वोट न कर पाए और चुनाव में दावेदारी न पेश कर सके, इसके लिए वह पुरजोर कोशिशें कर रही हैं। इसके अलावा कांग्रेस के नेताओं को जेल भिजवाया जा रहा है। ऐसे में लगता है कि बंगाल में राजनीति करना अपराध है।

चौधरी के मुताबिक, ममता सोच रही हैं कि वह बाकी विपक्षी पार्टियों के बलबूते प्रधानमंत्री बन जाएंगी। यही कारण है कि वह बंगाल में कांग्रेस को एक भी सीट देने से मना कर रही हैं। वह सिर्फ और सिर्फ अपने फायदे के लिए स्थितियां तैयार कर रही हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App