ताज़ा खबर
 

‘खबरदार जो राहतकार्य में ली घूस!’ ममता बनर्जी ने 3 घंटे की मैराथन मीटिंग में TMC कार्यकर्ताओं को पढ़ाया चुनावी पाठ

शुक्रवार को तीन घंटे चली मैराथन मीटिंग में उन्होंने Coronavirus संकट, Amphan और सार्वजनिक वितरण प्रणाली (PDS) में भ्रष्टाचार करने को लेकर सबको चेताया।

Mamata Banerjee, Trinamool Congress, TMC, West Bengal, CM, Mamata Banerjee, Public Distribution System, Coronavirus, COVID-19 Pandemic, Cyclone, Amphan, Corruption, State News, India News, National News, Mamata Banerjee, Trinamool Congress, TMC, West Bengal, Coronavirus in india, coronavirus india news, coronavirus latest news, coronavirus news, coronavirus news today, coronavirus update, coronavirus, coronavirus in west bengal, west bengal, cyclone amphan, Bharatiya Janata Party, BJP, State News, India Newsप.बंगाल की सीएम ममता बनर्जी। (फाइल फोटोः पीटीआई)

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री और Trinamool Congress (TMC) चीफ ममता बनर्जी ने पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं को चुनावी पाठ पढ़ाया है। शुक्रवार शाम तीन घंटे चली मैराथन मीटिंग (पार्टी की आंतरिक बैठक) में उन्होंने Coronavirus संकट, Amphan और सार्वजनिक वितरण प्रणाली (PDS) में भ्रष्टाचार करने को लेकर सबको चेताया। सीएम ने साफ तौर पर कहा कि खबरदार, जो कि किसी ने भी राहतकार्य में घूस ली।

सीएम ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से इस दौरान TMC नेताओं से यह भी कहा कि वह सोशल मीडिया पर पार्टी के राजनीतिक कैंपेन को लेकर एक्टिव मोड में आ जाएं और पिछले नौ सालों में अपनी सरकार की उपलब्धियों को जनता के सामने प्रमोट करें। दीदी के साथ इस दौरान राज्य और जिला स्तर के नेता मौजूद रहे, जिनमें जिला-इकाई अध्यक्ष के साथ पार्टी विधायक और सांसद भी थे।

मुख्यमंत्री ने आगे नेताओं से जिला स्तर पर जमीनी हाल के बारे में जाना और कुछ संगठनात्मक बदलावों पर चर्चा की। उन्होंने इस दौरान जोर दिया कि नेता-कार्यकर्ता घर-घर जाकर सरकार की उपलब्धियों और अच्छे कामों का ब्यौरा दें। साथ ही ऐसे कामों से बचें, जिससे पार्टी की बदनामी हो।

नाम न बताने की शर्त पर टीएमसी से लोकसभा के एक सांसद ने बताया,  “मुख्यमंत्री ने कहा कि पार्टी के लोग सारी चीजें प्रशासन पर छोड़कर राहत कार्य में शामिल न हों। राहत, कोरोना वायरस और अम्फान के पीड़ितों तक हर हाल में पहुंचे।”

सीएम का हवाला देते हुए सांसद ने आगे बताया- राशन वितरण प्रणाली में भ्रष्टाचार करने वालों के खिलाफ सरकार कड़ा ऐक्शन लेगी। अगर ऐसा करते कोई पाया जाता है, तब पार्टी किसी भी हालत में उसके साथ खड़ी नहीं होगी।

ममता की यह मैराथन मीटिंग ऐसे वक्त पर हुई है, जब Bharatiya Janata Party (BJP) ने 2021 के अपने चुनावी कैंपेन को लॉन्च किया है। इसे आर नोई ममता (Aar Noi Mamata) नाम दिया गया है, जिसका अर्थ है- अब और नहीं ममता।

चुनाव के मद्देनजर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी बीजेपी की राज्य इकाई की नौ जून के वर्चुअल रैली को संबोधित करेंगे। बता दें कि बंगाल में सत्तारूढ़ TMC के विरोधियों मसलन BJP, वाम दल (Left) और Congress ने ममता सरकार और उनकी पार्टी पर सरकारी राहत कार्यों (कोरोना और अम्फान के दौरान) में भ्रष्टाचार करने को लेकर निशाना साधा है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ऑपरेशन ब्लू स्टार की बरसी मनाने पर सिख नेताओं और पुलिस में भिड़ंत, स्वर्ण मंदिर परिसर में घुसने से रोका
2 ‘इस गुमान में न रहें कि दूसरी पार्टी के आका बचा लेंगे और आप ब्लैक मार्केटिंग कर लेंगे’, निजी अस्पतालों को केजरीवाल की चेतावनी
3 गुजरात: 8 MLA गंवाकर जागी कांग्रेस, बड़े नेताओं ने संभाला मोर्चा, विधायकों को रिजॉर्ट में पहुंचाया