ताज़ा खबर
 

नंदीग्राम में हार के खिलाफ याचिका पर सुनवाई में हाजिर हुईं ममता बनर्जी, फैसला सुरक्षित

ममता बनर्जी ने कलकत्ता हाईकोर्ट में नंदीग्राम के चुनाव प्रक्रिया को चुनौती देते हुए एक याचिका दाखिल की है। ममता का आरोप है कि नंदीग्राम में चुनाव के दौरान धांधली की गई।

कलकत्ता हाईकोर्ट में नंदीग्राम चुनाव को लेकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई हुई। इस दौरान वह खुद भी वर्चुअली मौजूद रहीं। (एक्सप्रेस फोटो)

गुरूवार को पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में नंदीग्राम सीट पर हुई हार के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के द्वारा कलकत्ता हाईकोर्ट में दायर याचिका पर सुनवाई हुई। सुनवाई के दौरान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी वर्चुअली मौजूद रहीं। सुनवाई के बाद जस्टिस कौशिक चंद्रा ने फैसले को सुरक्षित रख लिया। उन्होंने कहा कि बाद में इस पर फैसला सुनाया जाएगा। 

ममता बनर्जी की ओर से वरिष्ठ वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने दलील रखी। अभिषेक मनु सिंघवी की दलील के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया गया। सुनवाई से पहले ममता बनर्जी ने केस की सुनवाई कर रहे जस्टिस कौशिक चंद्रा की बेंच को बदलने की मांग भी की थी। बीते दिनों टीएमसी नेताओं ने जस्टिस कौशिक चंद्रा की एक फोटो शेयर की थी जिसमें दावा किया गया था कि उनके भाजपा नेताओं के साथ संबंध हैं। इसके बाद ममता बनर्जी ने याचिका दायर कर दूसरे बेंच में केस ट्रांसफर करने की मांग की थी।

बता दें कि ममता बनर्जी ने कलकत्ता हाईकोर्ट में नंदीग्राम के चुनाव प्रक्रिया को चुनौती देते हुए एक याचिका दाखिल की है। ममता का आरोप है कि नंदीग्राम में चुनाव के दौरान धांधली की गई। ममता ने अपनी याचिका में नंदीग्राम के चुनाव को रद्द करने की मांग की है। ममता ने अपने विरोधी शुभेंदु अधिकारी पर रिश्वतखोरी और भ्रष्टाचार के आरोप लगाए हैं। ममता बनर्जी की याचिका पर सुनवाई के लिए जस्टिस कौशिक चंद्रा की एकल बेंच बनाई गई है।

2 मई को जारी हुए पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव परिणाम में ममता बनर्जी नंदीग्राम सीट पर बीजेपी के शुभेंदु अधिकारी से 1956 वोटों से हार गई थी। ममता ने चुनाव आयोग से दोबारा वोटों की गिनती कराने की मांग की थी लेकिन इसकी अनुमति नहीं दी गई थी। ममता बनर्जी ने दावा किया था कि मतगणना के दौरान धांधली हुई है। 

इसके अलावा ममता ने चुनाव आयोग से जल्दी उपचुनाव कराने की भी मांग की है। उन्होंने चुनाव आयोग पर प्रधानमंत्री से पूछकर चुनाव की तारीख जारी करने का आरोप लगाया है। ममता बनर्जी ने कहा कि जबतक प्रधानमंत्री नहीं कहेंगे तब तक वे चुनाव की तारीख जारी नहीं करेंगे। इसलिए मैं प्रधानमंत्री से उपचुनाव कराने की अपील करती हूं। ममता बनर्जी ने कहा है कि जब कोरोना के मामले घट रहे हैं तो उपचुनाव कराने में क्या दिक्कत है।

Next Stories
1 7th Pay Commission: बिहार में 1.21लाख शिक्षकों की होगी बहाली, काउंसलिंग की तारीख जारी
2 Reliance AGM 2021 highlights : मुकेश अंबानी ने कहा, रिलायंस जियो करेगा देश में सबसे पहले 5G लॉन्च
3 कांग्रेस नेता बोले- यूपी में भाजपा डरी, हिंदू की दाढ़ी पर नहीं बोलते तो मुस्लिम पर क्यों? संबित का जवाब
ये पढ़ा क्या?
X