ताज़ा खबर
 

बंगालः TMC है टेररिस्ट मैन्युफैक्चरिंग कंपनी- BJP का पलटवार; CM के भतीजे को बताया बच्चा

बता दें कि तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी ने रविवार को कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित भाजपा के किसी भी नेता में उन पर आरोप लगाने के लिए उनका नाम लेने तक का साहस नहीं है और वे सब 'भाईयों' या 'भतीजा' जैसे सांकेतिक शब्द का इस्तेमाल करते हैं।

west bengal, mamta banarjeeदिलीप घोष ने सीएम के भतीजे पर पलटवार किया है।

पश्चिम बंगाल में अगले साल यानी 2021 में विधानसभा चुनाव होने हैं। चुनाव से पहले यहां भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है। पश्चिम बंगाल बीजेपी के उपाध्यक्ष राजू बनर्जी ने टीएमसी पर जुबानी हमला करते हुए कहा कि ‘समय के साथ टीएमी का मतलब भी बदलता रहता है। अब यह Terrorist Manufacturing Company बन गई है। ऐसा ही विचार युवाओं का भी है। टीएमसी के कार्यकर्ता भी यहीं सोचते हैं और इसीलिए वो कब्रगाहों की दीवार पर लिखते हैं कि टीएमसी 2021 में आ रही है।’

इससे पहले राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी ने बीजेपी के बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय को बाहरी कहा था। इसके अलावा उन्होंने पश्चिम बंगाल बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष को गुंडा भी कह दिया था। वहीं गुंडा कहने के बयान को लेकर दिलीप घोष ने अभिषेक बनर्जी को करारा जवाब दिया है। अभिषेक बनर्जी पर पलटवार करते हुए घोष ने उन्हें बच्चा करार दिया है। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘हमने देखा है कि पंचायत चुनाव में कौन गुंडा है? उन्होंने मुझे न केवल एक ठग कहा, बल्कि एक माफिया भी कहा। माफिया कौन है, यह समझा जा सकता है। उनके काफिले में 25 कारें हैं और हर कोई जानता है कि उनके पास क्या-क्या है। वास्तव में हताशा एक उच्चतम स्तर पर है।’

दिलीप घोष ने अभिषेक बनर्जी को बच्चा भी कह दिया है। उन्होंने कहा कि ‘मैं भतीजा नहीं कर रहा कर रहा हूं बल्कि खोखाबाबू यानी बच्चा लड़का कह रहा हूं। उन्होंने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और उनके भतीजे अभिषेक का नाम लिए बिना कटाक्ष करते हुए कहा कि वह (अभिषेक) उनकी (ममता बनर्जी की) गोद में बैठकर राजनीति में आए और सांसद बन गए।

बता दें कि तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी ने रविवार को कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित भाजपा के किसी भी नेता में उन पर आरोप लगाने के लिए उनका नाम लेने तक का साहस नहीं है और वे सब ‘भाईयों’ या ‘भतीजा’ जैसे सांकेतिक शब्द का इस्तेमाल करते हैं। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे और तृणमूल युवा कांग्रेस प्रमुख बनर्जी ने दावा किया कि जब भी उन्हें निशाना बनाया गया, वे उन नेताओं को अदालत में ले गए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 डिबेट में अमिश देवगन 26/11 हमले पर शहीद हेमंत करकरे को भूले, भड़के पैनलिस्ट ने पूछा- शर्म नहीं आती
2 चंद पेड़-पौधे जला दिए और कह रहे हैं…सर्जिकल स्ट्राइक पर बोले पैनलिस्ट, डिफेंस एक्सपर्ट ने यूं दिया जवाब
यह पढ़ा क्या?
X