ताज़ा खबर
 

बंगाल के बीरभूम में भाजपा कार्यालय फूंका, पार्टी नेता ने कहा-टीएमसी के गुंडों ने लगाई आग

भाजपा कार्यकर्ता ने कहा कि टीएमसी के गुंडों ने पार्टी कार्यालय पर हमला किया और आग लगा दी। पार्टी नेता गोपाल सरकार ने कहा, "हमारे कार्यकर्ता उस समय कार्यालय से दूर थे।"

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को कोलकाता में एक रैली को संबोधित किया था। (Photo: PTI)

पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले के इल्लमबाजार क्षेत्र में भाजपा कार्यालय को कथित रूप से “टीएमसी गुंडों” द्वारा क्षतिग्रस्त कर दिया गया। इसमें आग लगा दी गई। बीजेपी के एक स्थानीय नेता के अनुसार, रविवार (1 मार्च) रात कार्यालय में हमला हुआ। इसी दिन केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कोलकाता में एक रैली को संबोधित किया था। भाजपा कार्यकर्ता ने कहा कि टीएमसी के गुंडों ने पार्टी कार्यालय पर हमला किया और आग लगा दी। पार्टी नेता गोपाल सरकार ने कहा, “हमारे कार्यकर्ता उस समय कार्यालय से दूर थे।” हालांकि इस मामले पर अभी तक टीएमसी के किसी नेता की प्रतिक्रिया सामने नहीं आयी है।

वहीं, माकपा और कांग्रेस की छात्र इकाई ने सोमवार को शहीद मीनार मैदान का ‘शुद्धिकरण’ किया जहां केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रैली को संबोधित किया था। समूह ने दावा किया कि कोलकाता का ‘‘ऐतिहासिक मैदान’’ भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा रविवार को यहां आते वक्त लगाए गए ‘‘गोली मारो’’ जैसे भड़काने वाले नारों की वजह से दूषित हुआ था।

वाम दलों के छात्र संगठन स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया और कांग्रेस की छात्र शाखा ‘छात्र परिषद’ ने शहीद मीनार के मंच को पानी से धुला और सांप्रदायिक ताकतों को राज्य के सद्भाव को नहीं बिगाड़ने देने की शपथ ली। कांग्रेस नेता शुभांकर सरकार ने कहा, ‘‘हमनें एसएफआई के साथ मिलकर संयुक्त रूप से शहीद मीनार मैदान के शुद्धिकरण के कार्यक्रम का आयोजन किया। यह ऐतिहासिक मैदान पूर्व में कई राजनीतिक कार्यक्रमों का गवाह बना है लेकिन इससे पहले कभी भी यहां इस तरह की सांप्रदायिक बातें और गोली मारो जैसे नारे नहीं सुने गए।’’

शाह ने रविवार को अपनी रैली के संबोधन में कहा था, ‘‘विपक्ष अल्पसंख्यकों को डरा रहा है…मैं अल्पसंख्यक समुदाय के हर व्यक्ति को आश्वस्त करता हूं कि सीएए केवल नागरिकता देता है, छीनता नहीं। इससे आपकी नागरिकता पर असर नहीं पड़ेगा।’’ शाह ने कहा,‘‘विपक्षी दल भ्रम फैला रहें हैं कि शरणार्थियों को कागजात दिखाने पड़ेंगे, लेकिन यह सरासर गलत है। आपको कोई कागज नहीं दिखाना है। सभी शरणार्थियों को नागरिकता मिलने तक हम रुकेंगे नहीं।’’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दिल्ली: दंगे के जख्म पर मरहम लगाने निकले पड़ोसी
2 राज्यसभा : जब विपक्ष के नेता की सीट पर उनके साथ जा बैठे पीयूष गोयल
3 संवाद: शेफाली वर्मा- 16 साल की उम्र में जड़ा अर्धशतक
आज का राशिफल
X