ताज़ा खबर
 

बीजेपी सांसद और एक्टर जॉर्ज बेकर ने लगाया हमले का आरोप, कहा- पिटाई के बाद तोड़ी गाड़ी

टीएमसी के बर्धवान ग्रामीण के जिलाध्यक्ष और राज्य मंत्री स्वप्न देबनाथ ने बीजेपी सासंद पर हमले में पार्टी का हाथ होने से इनकार किया है। उनका कहना है कि उन्होंने इस घटना के बारे में सुना है लेकिन टीएमसी का इसमें कोई रोल नहीं है।

बीजेपी सांसद ने लगाया मारपीट का आरोप। (Photo Source: ANI)

पश्चिम बंगाल के बीजेपी सासंद जॉर्ज बेकर के साथ मारपीट का मामला सामने आया है। बीजेपी सांसद जॉर्ज बेकर ने आरोप लगाया कि बर्धमान के कालना इलाके में उन पर हमला किया गया और उनकी कार में तोड़-फोड़ की गई। सांसद का कहना है कि उनपर हमला ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस (TMC) के कार्यकर्ताओं ने किया। पुलिस ने कहा कि हमलावरों ने बेकर की कार पर पत्थर मारकर उसे क्षतिग्रस्त किया और उन्हें तथा उनके साथियों को घायल कर दिया।

पुलिस ने बताया कि एक्टर और बीजेपी सांसद बेकर पर हमला उस समय हुआ जब वह बीजेपी विस्तारक कार्यक्रम में शामिल होने जा रहे थे। पुलिस की मदद के बाद उन्हें कार से निकाला जा सका। सांसद ने कलना पुलिस थाने में अपने ऊपर हुए हमले की शिकायत दर्ज कराई है। पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक बेकर और उनके साथ मौजूद अन्य घायलों को इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया था। जहां से जांच के बाद उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया है। जबकि अन्य घायलों को अस्पताल में भर्ती किया गया है।

घटना के बाद बीजेपी सांसद बेकर ने कहा, “टीएमसी के कार्यकर्ताओं ने हमारे पार्टी के कार्यकर्ताओं को पीटा। जब मैं गाड़ी से नीचे उतरा तो उन्होंने मेरे ऊपर भी हमला किया। हमलावरों में से एक ने मेरे सिर पर वार किया लेकिन मैंने इसका विरोध किया। कुछ लोगों ने मुझ पर पीछे से भी हमला किया। वहीं, बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने आरोप लगाया कि हर दिन बीजेपी के विस्तारक कार्यक्रम में शामिल होने वाले पार्टी कार्यकर्ताओं को राज्य में मारा जा रहा है। जॉर्ज बेकर पर कलना में हमला हुआ। उनकी गाड़ी को तोड़ा गया। ऐसा उनको विस्तारक कार्यक्रम में जाने से रोकने के लिए किया गया।

वहीं दूसरी ओर, टीएमसी के बर्धवान ग्रामीण के जिलाध्यक्ष और राज्य मंत्री स्वप्न देबनाथ ने बीजेपी सासंद पर हमले में पार्टी का हाथ होने से इनकार किया है। उनका कहना है कि उन्होंने इस घटना के बारे में सुना है लेकिन टीएमसी का इसमें कोई रोल नहीं है। यह बीजेपी के अंदर विवाद का नतीजा है। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

 

बीजेपी कार्यकर्ताओं ने विरोधियों की दीवारों पर लिखा- ‘मेरा घर, भाजपा का घर’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App